×

ROHTAS आर्ट कॉलेज के स्टूडेंट्स ने धनिया के दानों से बना दी पूरी प्रतिमा, 2 महीने का लगा वक्त

बुधवार को महाअष्टमी पर श्रद्धालुओं ने भगवती की पूजा की। जिले के सिद्धपीठ उच्चैठ भगवती की पूजा श्रद्धालुओं के द्वारा बुधवार को महागौरी के रूप में की गई। सिद्धपीठ उच्चैठ भगवती मंदिर के पंडों ने बुधवार को शाम के 4 बजे तक करीब 1 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के द्वारा माता की पूजा किए जाने की जानकारी दी। वहीं, आज मां के सिद्धिदात्री स्वरूप की उपासना की जाएगी। वहीं, बेनीपट्टी प्रखंड के चानपुरा गांव के श्रद्धालुओं सहित अन्य जगहों के श्रद्धालुओं के द्वारा करीब 500 से अधिक छाग की बलि प्रदान की गई। वहीं, दूसरी ओर जयनगर में बिहार के सबसे ऊंचे दुर्गा मंदिर में 60 हजार से अधिक लोगों ने माता रानी की पूजा-अर्चना की जबकि महिलाओं ने खोंइछा भरा। मंदिर परिसर में दुर्गा सप्तशती पाठ और मां के जयकारे से पूरा वातावरण भक्तिमय हो चुका है। वहीं, जिले में हर पूजा पंडाल में सुबह से ही मां का पूजन और दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी।  दुर्गा पूजा के दाैरान नजर रखने के लिए कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में बना कंट्रोल रूम  दुर्गा पूजा के दौरान विधि व्यवस्था बनाए रखने व किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना घटने पर इसके त्वरित कार्रवाई के लिए मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में जिला नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। यह नियंत्रण कक्ष मंगलवार से शुक्रवार काे प्रतिमा विसर्जन तक 24 घंटे कार्य करेगा। जिला प्रशासन की ओर से इसके लिए चार शिफ्टों में चार ग्रुपों में अधिकारियों की तैनाती की गई है। एक ग्रुप में 6 अधिकारी को शामिल किया गया है। जिला नियंत्रण कक्ष के वरीय प्रभारी के रूप में अपर समाहर्ता अवधेश राम को बनाया गया है। वरीय पुलिस पदाधिकारी के रूप में पुलिस उपाधीक्षक प्रभाकर तिवारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिला नियंत्रण कक्ष का नंबर 06276-224425 जारी किया गया है। वहीं, किसी तरह की परेशानी होने पर लोग इन नंबरों पर संपर्क कर कोई महत्वपूर्ण सूचना दे सकते हैं जिस पर तत्काल कार्रवाई होगी।


बिहार न्यूज़ डेस्क !!! आज देश भर में दुर्गा नवमी का त्यौहार मनाया जा रहा है । बताया जा रहा है कि, श्रद्धालु पूरी आस्था से मां की आराधना करने में लीन हैं । राजधानी पटना में भी तरह-तरह के पंडाल और मूर्ति तैयार किए गए हैं इसके तहत कहीं पर भव्य सज्जा ​की गई है तो कहीं पर कला का अनूठा रंग देखने का मिल रहा है ।

मगर, पटना में कुछ स्टूडेंट ने मिलकर धनिया से मां की प्रतिमा तैयार की है, जिसे देखने के लिए भक्तों की भीड़ लग रही है । बताया जा रहा हे कि ये प्रतिमा पटना के बुद्धा कॉलोनी में काठपुल मंदिर में लगी हुई है जिसको देखने के लिए दूर—दूर से लोग आ रहे हैं । जानकारी के अनुसार, इस मूर्ति को कलाकारो ने खड़े धनिया से तैयार किया है । सिर्फ मां दुर्गा की मूर्ति ही नहीं, बल्कि भगवान गणेश, माता लक्ष्मी के साथ ही पंडाल में लगी हर मूर्ति धनिया से बनी है ।

पूजा समिति के मुताबिक बताए तो इस मूर्ति को तैयार करने में कलाकारों को करीब 2 महीने का समय लगा है । आपको जानकर हैरानी होगी मगर इसे बनाने वाले कलाकार पटना के आर्ट कॉलेज के स्टूडेंट हैं ।

रोहतास न्यूज डेस्क !!!

Share this story