×

SIWAN शादी के समय चंदा लगाकर ठीक कराई जाती है सड़क, लोगों को होती है परेशानी

SIWAN शादी के समय चंदा लगाकर ठीक कराई जाती है सड़क, लोगों को होती है परेशानी

बिहार न्यूज़ डेस्क!!मीडिया रिपेार्ट के अनुसार  !श्रीकृष्णा पूरी में लगभग तीस घर ऐसे हैं जहां संपर्क रास्ता ही नहीं है। बाइक कार तो दूर लोग पैदल घरो तक भी नहीं पहुच पाते है। छोटे छोटे बच्चों को गोद मे उठाकर बाहर ले जानी पड़ती है।शहरी क्षेत्र में होने के बावजूद शुद्ध पानी नहीं मिलना यह गम्भीर समस्या है। महिलाओं ने बताया की चापाकल व मोटर की पानी कितना टीडीएस में पीना है यह किसी को नहीं पता है। जैसे मिलता है पी लेते हैं।  कभी सर में तो कभी पेट या अन्य जगहों पर समस्या बनी रहती है। सरकारी योजना नल जल सिर्फ जनता को भरमाने वाली योजना है। सरकार के द्वारा लाई गई योजना स्थानीय प्रतिनिधियो के द्वारा कहीं भी बेहतर तरीके से जनता को लाभ नहीं मिला है।वार्ड में बेहद पुराना सामुदायिक शौचालय है। कई साल से शौचालय पर ताला जड़ा है।

खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि, शौचालय जर्जर हो चुका है। शौचालय की एक हिस्से की दीवार भी गिर चुकी है।शोरूम की ओर से घुसते ही कचरे का ढेर और भारी गंदगी है। स्थानीय लोगों ने बताया कि कचरे का उठान नहीं होने की वजह से कचरा सड़ता है, जिससे दुर्गंध रहती है। पार्षद ने बताया कि वार्ड में सफाईकर्मी तैनात हैं।वार्ड नंबर 34 में पानी की निकासी नहीं होना बड़ी समस्या है। लोगों ने घरों के बाहर नालियों में नाकेबंदी की हुई है। कई लोगों ने प्लॉटों में पानी खोला हुआ है। मुख्य नाला नहीं होने की वजह से पानी सड़क किनारे खेत में भर रहा हैशहर विस्तार करने के लिए आसपास के नई कॉलोनियों को शहर में तो शामिल कर लिया गया, लेकिन पांच साल बाद भी श्रीकृष्णा पूरी व वार्ड संख्या 34 शहर के काबिल नहीं बनाया जा सका। इन वार्डों में अब भी गांव जैसी सुविधा ही मौजूद है।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि,पानी निकासी की व्यवस्था हो पाई है और न ही शुद्ध पेयजल का इंतजाम हुआ हैं। वार्डों के कई मोहल्लों में लोग कच्चे रास्तों से ही आवागमन को विवश हैं। लोगों ने कई बार सांसद, विधायक व ईओ से गुहार लगाए, लेकिन कुछ नहीं हुुआ। स्थानीय लोगो ने कहा कि कच्ची सड़क होने की वजह शादी विवाहों के समय आपस में चंदा इकट्ठा कर सड़क को ठीक कराया जाता है। जिससे बराती को आने पर इज्जत बच सकें। नल जल योजना भी वार्ड के कुछ ही हिस्सों में लगा है। जिस कारण शुद्ध पानी नहीं मिल रहा है। वार्ड पार्षद के द्वारा इस वार्ड के गलियों को विकसित नहीं करने का मुख्य कारण है कि वोट इधर नहीं है।

मीडिया रिपेार्ट के अनुसार  जब भी वार्ड पार्षद को बोला गया तो सिर्फ आश्वासन मिला। वार्ड को भले ही शहर में शामिल किया गया हो, लेकिन इन वार्ड में अभी भी गांव जैसी सुविधा उपलब्ध है, जब इन वार्ड को शहर में शामिल किया गया था, तब इन वार्ड के लोगों के खुशी का ठीकाना नहीं रहा, लेकिन उनकी खुशियां धीरे-धीरे खत्म होने लगी।बताया जा रहा है कि,स्थानीय लोगों की माने तो वार्ड संख्या 34 में वार्ड पार्षद के द्वारा इसलिए विकास नहीं किया गया, क्योंकि इधर उनके वोटर नहीं है। जिस कारण मुख्य सड़क खत्म हो गई है। शहरी क्षेत्र में होने के बावजूद ग्रामीण क्षेत्र से भी बदतर व्यवस्था है।

Share this story