×

PATNA  सांसद सुशील मोदी ने कहा- ये सभी हिंदी प्रेमियों का अपमान है , सोरेन के बयान पर लालू प्रसाद क्यों हैं चुप?

Angry cow attacked firefighter, see what happened next in the video

बिहार न्यूज़ डेस्क !!! हेमंत सोरेन ने भोजपुरी और मगही बोलने वालों को वर्चस्व चाहने वाला बताया था। अब इस बयान को लेकर बिहार की राजनीतिक पार्टियों ने कड़ी आपत्ति दर्ज की है। सोरेन की पार्टी झामुमो की सहयोगी पार्टी राजद उनके बचाव में है। खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बयान पर एनडीए में खासतौर से भाजपा ने कड़ी नाराजगी जताई है। भाजपा सांसद सुशील मोदी ने सोरेन के मगही-भोजपुरी पर दिये बयान को भाषाई असहिष्णुता करार दिया है। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बयान पर भाजपा ने जबरदस्त नाराजगी जताई है।एक संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति का ये बयान अनुचित, अशोभनीय और निंदनीय है।

भोजपुरी बोलकर वोट लेने वाले लालू प्रसाद बताएं कि क्या वे हेमंत सोरेन के बयान का समर्थन करते हैं।सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि, हेमंत सोरेन ने भोजपुरी और मगही बोलने वाले लोगों को डॉमिनेटिंग नेचर यानी वर्चस्‍व चाहने वाला बताया था। उन्होंने कहा था कि अविभाजित बिहार में झारखंड की महिलाओं के साथ गलत भाजपा के साथ जदयू और हम के नेताओं ने भी हेमंत सोरेन के इस बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। जदयू ने झारखंड सीएम के इस बयान को बिहार का अपमान बताया है। इसको लेकर उन्होंने लालू प्रसाद पर भी निशाना साधा है। जदयू की सहयोगी हम ने तो हेमंत सोरेन पर सीधा हमला करते हुए कहा है कि सोरेन को इतिहास की थोड़ी सी जानकारी नहीं है। हेमंत सोरेन के बयान पर राजद ने संभलते हुए बयान देने की कोशिश की है। राजद ने कहा है कि हेमंत सोरेन के बयान का ये बयान किस संदर्भ में दिया गया है, ये देखना होगा। असल में राजद और हेमंत सोरेन की पार्टी झामुमो एक साथ गठबंधन में है ।

Share this story