×

PATNA कचरे से बैक्टीरियल इंफेक्शन की चपेट में पटना, 6 दिन से पानी में मिलकर सड़ रहा कचरा

Take home this electric bike on EMI of around Rs 1200, will run 100 km on full charge

बिहार न्यूज़ डेस्क !!! शहर में हर 10 कदम पर 6 दिनों से सड़ रहे कचरे में बैक्टीरिया तैयार हो रहे हैं। 6 दिनों में हवा से लेकर पानी तक सब प्रदूषित हो रहा है। बैक्टीरिया से जहां शहर में महामारी फैलने का बड़ा खतरा है, वहीं कचरे की लीचिंग से अंडर ग्राउंड वाटर भी प्रदूषित होने का डर है। सफाई कर्मियों के हड़ताल को सरकार हल्के में ले रही है लेकिन भास्कर की पड़ताल में बड़ा खुलासा हुआ है। शहर में हर 10 कदम पर कचरा ही कचरा है। खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,कचरे के ढेर से पटना में बैक्टीरियल इंफेक्शन का खतरा है। यह खतरा सफाई कर्मियों की हड़ताल से हुआ है। कचरे में खाने-पीने के सामान के कारण वहां जानवर जुटे हुए हैं। बारिश होने से कचरा से दुर्गंध निकल रहा है। पटना पुलिस लाइन, छज्जू बाग, बोरिंग राेड, कैनाल रोड और बाकरगंज के पास कचरे का ढेर है।

दवा किंग मेडिकल स्टोर के सामने तो पूरी सड़क ही कचरे से पट गई है। यहां आने जाने वालों के जूते चप्पल से कचरा इधर-उधर फैल रहा है। पाटलिपुत्रा कॉलोनी, राजीवनगर, कंकड़बाग जैसी दर्जनों बड़ी कॉलोनियों में कचरा फैला पड़ा है।  सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि,पाटलिपुत्रा विश्वविद्यालय के DSW और रसायन शास्त्र के एक्सपर्ट डॉ ए के नाग का कहना है कि एक जगह पर कचरा जमा होकर पानी के साथ मिक्स होना बड़ा खतरा है। इससे गैस के साथ ऑक्साइड का खतरा है। यह हवा और पानी के लिए जहर का काम करते हैं। इंसान और पशुओं का जीवन है। डॉ ए के नाग का कहना है कि गीला कचरा और सूखा कचरा अलग रखने का नियम भी ऐसे खतरे से बचाव को लेकर ही बनाया गया है। अगर इसमें लापरवाही हो रही है तो यह निश्वित तौर पर बड़ा खतरा है।

Share this story