×

Chapra सबलपुर में गंगा नदी के कटाव में 30 घर समा गए

सोनपुर के सबलपुर अंचल के पछियारी पंचायत नव घरवा वार्ड संख्या 1 और 2 में मंगलवार को 30 घर से ऊपर गंगा नदी में समाहित हो गया। इसे लेकर यहां ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। यह खबर गांव में आग की तरह फैल गई। देखते ही देखते वहां लोगों की काफी भीड़ इकट्ठा हो गई। आसपास के लोगों ने इस बात की जानकारी स्थानीय प्रशासन को दिया। घटना की सूचना पाकर सोनपुर के अनुमंडल पदाधिकारी सुनील कुमार अंचलाधिकारी अनुज कुमार समेत काफी संख्या में पुलिस बल घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य के लिए पहुंची। सुबह 4:00 बजे से अचानक तेजी से कटाव होने लगा ग्रामीणों ने बताया कि सुबह 4:00 बजे से अचानक तेजी से कटाव होने लगा। इसके बाद वहां अफरा-तफरी के माहौल कायम हो गया। इस दौरान वहां के आमोद राय राम इकबाल राय, बागी राय,रामाकांत राय, श्रीकांत राय, बिंदेश्वरी ठाकुर,श्याम नंदन ठाकुर,डिग्री मांझी, नन्हक राय ,रामस्वरुप राय,,राज कुमार ठाकुर, बिजली राय के घर समेत कई लोगों का कई एकड़ जमीन पानी में विलीन हो गया। इसे लेकर वहां दहशत का माहौल है। इस घटना के बाद आसपास के लोग अपने घर से सामान निकाल कर दूसरे जगह लेकर भागने लगे।  प्रशासन बचाव में उतरा इस संबंध में पूछे जाने पर शिव अनुज कुमार ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही सोनपुर प्रशासन मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य में जुट गई है। ग्रामीणों के लिए जल्द ही कम्युनिटी किचन की व्यवस्था शुरू की जाएगी।  सरकार ने कटावरोधी के लिए नहीं की पहल सबलपुर में दो दर्जन से ऊपर घर पानी में समाहित हो जाने के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों का कहना है कि सरकार कटाव से बचाव के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। अगर इसी तरह ऐसा रहा तो धीरे-धीरे पूरा गांव नदी में विलीन हो जाएगा। पिछले साल 45 करोड़ रुपये खर्च कर कटाव को रोकने के लिए जिओ बैग से घेराबंदी की गई थी। गुणवत्तापूर्ण काम नहीं होने के कारण जनता का सारा पैसा पानी में बह गया।

बिहार न्यूज़ डेस्क !!! ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। वहां लोगों की काफी भीड़ इकट्ठा हो गई। आसपास के लोगों ने इस बात की जानकारी स्थानीय प्रशासन को दिया। घटना की सूचना पाकर सोनपुर के अनुमंडल पदाधिकारी सुनील कुमार अंचलाधिकारी अनुज कुमार समेत काफी संख्या में पुलिस बल घटनास्थल पर राहत और बचाव कार्य के लिए पहुंची। खबरों से प्राप्त जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि,ग्रामीणों ने बताया कि सुबह 4:00 बजे से अचानक तेजी से कटाव होने लगा। इसके बाद वहां अफरा-तफरी के माहौल कायम हो गया। इस दौरान वहां के आमोद राय राम इकबाल राय, बागी राय,रामाकांत राय, श्रीकांत राय, बिंदेश्वरी ठाकुर,श्याम नंदन ठाकुर,डिग्री मांझी, नन्हक राय ,रामस्वरुप राय,,राज कुमार ठाकुर, बिजली राय के घर समेत कई लोगों का कई एकड़ जमीन पानी में विलीन हो गया। इसे लेकर वहां दहशत का माहौल है। इस घटना के बाद आसपास के लोग अपने घर से सामान निकाल कर दूसरे जगह लेकर भागने लगे। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि,इस संबंध में पूछे जाने पर शिव अनुज कुमार ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही सोनपुर प्रशासन मौके पर पहुंचकर राहत और बचाव कार्य में जुट गई है। ग्रामीणों के लिए जल्द ही कम्युनिटी किचन की व्यवस्था शुरू की जाएगी।

सूत्रों के अनुसार बताया जा रहा है कि,सबलपुर में दो दर्जन से ऊपर घर पानी में समाहित हो जाने के बाद ग्रामीण आक्रोशित हो गए। ग्रामीणों का कहना है कि सरकार कटाव से बचाव के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है। अगर इसी तरह ऐसा रहा तो धीरे-धीरे पूरा गांव नदी में विलीन हो जाएगा। पिछले साल 45 करोड़ रुपये खर्च कर कटाव को रोकने के लिए जिओ बैग से घेराबंदी की गई थी। गुणवत्तापूर्ण काम नहीं होने के कारण जनता का सारा पैसा पानी में बह गया।

Share this story