×

GAYA  तीन करोड़ के ब्राउन शुगर के साथ तीन तस्कर गिरफ्तार, नामचीन सफेदपोश संलिप्त

Take home this electric bike on EMI of around Rs 1200, will run 100 km on full charge

बिहार न्यूज़ डेस्क !!! पुलिस की टीम ने तकरीबन 3 करोड़ मूल्य की ब्राउन शुगर को बरामद किया है, वजन में 2.2 किलोग्राम बताया गया है।  एसआईटी की टीम तस्करों के जुड़े नेटवर्क को खंगालते हुए सरगना तक पहुंचने की कवायद में जुट गई है।खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,इसे लेकर चिह्नित स्थानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी भी हो रही। बताया जा रहा कि वरीय पुलिस अधीक्षक आदित्य कुमार को ड्रग्स की खरीद-बिक्री होने के संबंध में सूचना प्राप्त हुई थी।  गया पुलिस की विशेष टीम को मादक पदार्थ की तस्करी के खिलाफ बड़ी सफलता मिली है। एसएसपी ने सूचना का सत्यापन किया और आवश्यक कार्रवाई के लिए स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम का गठन किया।

गया एसएसपी आदित्य कुमार ने प्रेस कांफ्रेंस को बताया कि एसआईटी की टीम चिह्नित स्थान पर पहुंची और घेराबंदी की। ड्रग्स सप्लायरों को इसकी भनक लग गई। सप्लायरों ने भागने का प्रयास किया, किन्तु पुलिस की घेराबंदी काम आई और छापेमारी करते हुए तीन को मौके से दबोच लिया गया।  गठित एसआईटी की टीम ने ड्रग्स की बरामदगी और तस्करों को दबोचने के लिए रणनीति तैयार की।गिरफ्तार ब्राउन शुगर के सप्लायरों में सूरज कुमार पिता अशोक सिंह , सुमन कुमार उर्फ लोकेश पिता नागेश्वर सिंह और आलोक कुमार पिता विनोद सिंह शामिल है।पुलिस की विशेष टीम ने मौके से ब्राउन शुगर के दो पैकेट बरामद किए, जो 2.2 किलोग्राम हैं। इसकी कीमत 3 करोड़ बताई गई है।

एसआईटी में सिटी एसपी राकेश कुमार, मुफस्सिल थानाध्यक्ष पंकज कुमार, मुफस्सिल थाना के सब इंस्पेक्टर अविनाश कुमार और तकनीकी शाखा की टीम शामिल थी। पुलिस को पहली दफा मिली है। यह पहली बार है, जब 3 करोड़ का ब्राउन शुगर बरामद किया गया है। इसके साथ ही मौके पर धराए तीनों सप्लायरों से पुलिस को काफी कुछ सुराग मिले हैं। इस बीच पुलिस को पता चला है, कि इसमें एक ओहदेदार झारखंड राज्य के बरही से जुड़ा है। स्थल से दो बाइक और तीन मोबाइल की भी बरामदगी की गई। फरार हुए कुछ सप्लायरों को दबोचने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दे की,इस मामले को लेकर मुफस्सिल थाना में कांड संख्या 469।21 दर्ज की गई है, जो धारा 20  22 एनडीपीएस एक्ट 1985 के तहत दर्ज किया गया है। इसे लेकर गया पुलिस की टीम झारखंड में दबिश देने को पहुंची है। हालांकि फिलहाल अन्य और कोई गिरफ्तारी करने में पुलिस को सफलता नहीं मिल रही है।

Share this story