×

Nalanda  गंगा किनारे मिली लाश, कान से बहे खून के मिले निशान, पर पुलिस कह रही- डूबने से हुई मौत

बुधवार को महाअष्टमी पर श्रद्धालुओं ने भगवती की पूजा की। जिले के सिद्धपीठ उच्चैठ भगवती की पूजा श्रद्धालुओं के द्वारा बुधवार को महागौरी के रूप में की गई। सिद्धपीठ उच्चैठ भगवती मंदिर के पंडों ने बुधवार को शाम के 4 बजे तक करीब 1 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के द्वारा माता की पूजा किए जाने की जानकारी दी। वहीं, आज मां के सिद्धिदात्री स्वरूप की उपासना की जाएगी। वहीं, बेनीपट्टी प्रखंड के चानपुरा गांव के श्रद्धालुओं सहित अन्य जगहों के श्रद्धालुओं के द्वारा करीब 500 से अधिक छाग की बलि प्रदान की गई। वहीं, दूसरी ओर जयनगर में बिहार के सबसे ऊंचे दुर्गा मंदिर में 60 हजार से अधिक लोगों ने माता रानी की पूजा-अर्चना की जबकि महिलाओं ने खोंइछा भरा। मंदिर परिसर में दुर्गा सप्तशती पाठ और मां के जयकारे से पूरा वातावरण भक्तिमय हो चुका है। वहीं, जिले में हर पूजा पंडाल में सुबह से ही मां का पूजन और दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी।  दुर्गा पूजा के दाैरान नजर रखने के लिए कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में बना कंट्रोल रूम  दुर्गा पूजा के दौरान विधि व्यवस्था बनाए रखने व किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना घटने पर इसके त्वरित कार्रवाई के लिए मुख्यालय स्थित कलेक्ट्रेट के सभाकक्ष में जिला नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है। यह नियंत्रण कक्ष मंगलवार से शुक्रवार काे प्रतिमा विसर्जन तक 24 घंटे कार्य करेगा। जिला प्रशासन की ओर से इसके लिए चार शिफ्टों में चार ग्रुपों में अधिकारियों की तैनाती की गई है। एक ग्रुप में 6 अधिकारी को शामिल किया गया है। जिला नियंत्रण कक्ष के वरीय प्रभारी के रूप में अपर समाहर्ता अवधेश राम को बनाया गया है। वरीय पुलिस पदाधिकारी के रूप में पुलिस उपाधीक्षक प्रभाकर तिवारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। जिला नियंत्रण कक्ष का नंबर 06276-224425 जारी किया गया है। वहीं, किसी तरह की परेशानी होने पर लोग इन नंबरों पर संपर्क कर कोई महत्वपूर्ण सूचना दे सकते हैं जिस पर तत्काल कार्रवाई होगी।


बिहार न्यूज़ डेस्क !!! 40 साल के एक व्यक्ति की संदिग्ध हालत में लाश मिलने के कारण इलाके में सनसनी मच गई । ऐसी आशंका लगाई जा रही है कि, व्यक्ति की गला दबाकर हत्या की गई हैं । बताया जा रहा है कि, इस व्यक्ति के साथ पहले मारपीट की गई हे ओर उसके बाद उसकी हत्या की गई है क्योंकि, उसके कान से बहे खून के निशान मिले हैं । मगर पुलिस इस बात को स्पष्ट कर रही है कि व्यक्ति की मौत गंगा नदी में डूबने से हुई हैं ।

घटना के बारे में, गुरुवार की सुबह लाश पर सबसे पहली नजर एक चायवाले की पडी उसके बाद लोग और वहां गए । जो पूजा के लिए गंगा नदी का पानी लेने गए थे उसके बाद पुलिस को कॉल कर जानकारी दी गई जिसके बाद मौके पर पंहुची पुलिस ने लाश को अपने कब्जे में लिया ओर पोस्टमार्टम के लिए भेजा । बता दें कि जिस व्यक्ति की लाश मिली है उसके शरीर के अधिकांश हिस्से पर घाट किनारे की गिली मिट्‌टी लगी हुई थी । मौके पर मौजूद लोगों की मानें तो लाश के आसपास 3-4 अलग-अलग लोगों के पैरों के निशान भी दिखे थे ।

जिस व्यक्ति की लाश मिली, वो कौन है? कहां का रहने वाला था? फिलहाल पुलिस को इस बात का अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है । इस केस के बारे में थानेदार सुधीर कुमार ने बताया है कि, उसकी पहचान नहीं हो पाई है। किसी ने उसकी हत्या की या गंगा में डूबने से उसकी मौत हुई? इसका पता पोस्टमार्टम की रिपोर्ट से ही हो पाएगा ।

नालंदा न्यूज डेस्क !!!

Share this story