×

DARBHANGA  मवि दुमदुमा में एक कमरे में कक्षा 6 से 8वीं तक के 61 छात्र पढ़ते पाए गए

KK

बिहार न्यूज़ डेस्क !!! भवनहीन-भूमिहीन होने के कारण इन स्कूलों को समाप्त करने का निर्णय साल भर पहले ही लिया जा चुका है।स्कूल वर्तमान स्थिति में अपने मूल स्थान को छोड़कर किसी दूसरे स्कूलों के भवन से संचालित किया जा रहा है।एक स्कूल के परिसर में दो या दो अधिक स्कूल चल रहे हैं। खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,जिले के 110 भूमि व मकान विहीन प्रारंभिक स्कूलों का अस्तित्व समाप्त होने वाला है। मूल स्कूलों के संचालन में कई प्रकार का व्यवधान उत्पन्न होने की शिकायत की जाती रही है। स्थानीय पदाधिकारियों की उदासीनता के कारण अब तक प्राथमिक शिक्षा निदेशक के आदेश का पालन नहीं किया जा सका है। शहर में ही 6 स्कूलों में टैग करके 7 स्कूलों का संचालन किया जा रहा हैैैै।

एक ही स्कूल परिसर में दोहरी या तीसरी व्यवस्था होती है।मीडिया रिपेार्ट के अनुसार बताया जा रहा है कि,टैग एवं मूल स्कूल में अलग-अलग एचएम, अलग रसोई, अलग खाताबही होती है। जिसका खामियाजा बच्चों को संसाधनों की कमी के तौर पर भुगतना पड़ता है। भवन के अभाव में बंसीदास कन्या मध्य विद्यालय में मवि. दुमदुमा संचालित है। ऐसे में कई स्कूलों की सारी व्यवस्था महज एक से दो कमरों में ही सिमटकर रह गई है। कई स्कूलों को सामंजित करने के आदेश के बावजूद सामंजित नहीं किया जा सका है।  कक्षा से 1 से 8 तक में कुल 158 छात्र नामांकित हैं। एमएच सुधांशु कुमार इलेक्शन की ट्रेनिंग में गए हुए थे। 5 सहायक शिक्षकाें में से 2 उपस्थित मिले। कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों को एक रूम में शिक्षा सेविका पढ़ा रही थीं। एक कमरे में पहली से 5वीं तक के कुल 26 छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

दोनों स्कूलों की अपनी अपनी व्यवस्था है।इलेक्शन ट्रेनिंग में गए हुए थे। यहां 17 सहायक शिक्षकों में से 12 उपस्थित थे। स्कूल में नामांकित छात्रों की संख्या 412 हैं। जिसमें से मंगलवार को 278 छात्रों की उपस्थिति दर्ज की गई है। स्कूल में कुल कमरों की संख्या 19 है। जिसमें से में दो स्टोर, एक में कार्यालय, एक में सीआरसी कार्यालय संचालित है। बंसीदास कन्या मवि. जीएन गंज में मवि. दुमदुमा काे टैग करके संचालित किया जा रहा है। रसोई के लिए 1 रूम व शिक्षा सेवकों के लिए 1 रूम आवंटित है। वहीं मवि. दुमदुमा को 2 रूम आवंटित किया गया है।

Share this story