Samachar Nama
×

नीतीश कुमार से प्रभावित होकर जेडीयू में शामिल हुआ : रिटायर्ड आईएएस मनीष कुमार वर्मा

पटना, 9 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार की राजनीति में रिटायर्ड आईएएस मनीष कुमार वर्मा ने एंट्री ली है। उन्होंने मंगलवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जेडीयू पार्टी ज्वाइन की। जदयू के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय झा और मंत्री विजय चौधरी ने मनीष वर्मा को पार्टी की सदस्यता दिलाई।
नीतीश कुमार से प्रभावित होकर जेडीयू में शामिल हुआ : रिटायर्ड आईएएस मनीष कुमार वर्मा

पटना, 9 जुलाई (आईएएनएस)। बिहार की राजनीति में रिटायर्ड आईएएस मनीष कुमार वर्मा ने एंट्री ली है। उन्होंने मंगलवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जेडीयू पार्टी ज्वाइन की। जदयू के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय झा और मंत्री विजय चौधरी ने मनीष वर्मा को पार्टी की सदस्यता दिलाई।

संजय झा ने मनीष कुमार का पार्टी में स्वागत किया। उन्होंने कहा कि मनीष कुमार के प्रशासनिक अनुभव का फायदा हमारी पार्टी को मिलेगा।

नीतीश कुमार की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि, जब मीडिया और अन्य लोग कहते हैं कि जेडीयू का ग्राफ नीचे गिर रहा है। तभी नीतीश कुमार जोरदार वापसी करके सबके आकलन को झूठा साबित कर देते हैं।

वहीं इस अवसर पर मनीष कुमार वर्मा ने कहा कि, ''पहले मैं नीतीश जी के दिल में था और अब मैं उनके दल में आ गया हूं। मैं मुख्यमंत्री के भाषण को टीवी में सुनता रहा हूं। 2012 में जब मैं बिहार आया था, तब 15 अगस्त को गांधी मैदान में एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बोल रहे थे।

वो कह रहे थे कि, मैं बिजली में सुधार लाऊंगा, अगर बिजली में सुधार नहीं ला पाया, तो मैं बिहार की जनता से वोट मांगने नहीं आऊंगा। मैंने कई नेताओं को देखा है, सुना है, लेकिन उन्होंने कभी ऐसा नहीं कहा कि, मैं यदि कोई काम नहीं करता हूं तो आपके पास दोबारा वोट लेने नहीं आऊंगा।

यह मेरे लिए बहुत अद्भुत घटना थी। इसके अगले साल 2014 लोकसभा चुनाव में पूछा गया कि बिहार में बिजली आई। तो इस पर जनता ने जवाब दिया कि हां आई। नीतीश कुमार ने यह करके दिखाया और 2015 विधानसभा चुनाव में भी उन्होंने इसका दृढ़ संकल्प लिया। तब मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बहुत प्रभावित हुआ था।

उन्होंने आगे कहा कि, इस पार्टी का इस परिवार का सदस्य बनकर मेरी कोशिश रहेगी कि, मुझे जो भी जिम्मेदारी मिले, मैं उसको ईमानदारी से निभा सकू। यहां मौजूद सभी नेताओं से कुछ न कुछ सीखने का मौका मिला है।

--आईएएनएस

एसएम/सीबीटी

Share this story

Tags