×

10 चीजें जो आपको अभी अपने रिलेशनशिप डालनी चाहिए, इससे बढेगा प्यार 

फगर

ऐसे समय में जब डेटिंग, प्यार, सच्चा प्यार और रिश्ते सिर्फ शब्द बन गए हैं, रिश्ते में ईमानदारी और वफादारी बनाए रखना मुश्किल हो गया है। उदाहरण के लिए, इस साल की शुरुआत सेलिब्रिटी जोड़ों के लिए खराब रही। चाहे बॉलीवुड कपल हों ऋतिक रोशन-सुज़ैन खान, रणबीर कपूर-कैटरीना कैफ, या वेस्ट के सेलेब कपल्स, टेलर स्विफ्ट-केल्विन हैरिस, जॉनी डेप-एम्बर हर्ड-- हमने कथित तौर पर 'डीप इन लव' के बड़े पतन देखे हैं। जैसा कि यह पता चला है, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (जैसे ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम) बेवफाई के मामलों की बढ़ती संख्या के पीछे सबसे बड़े कारण हैं। लोग रिश्तों में सब्र खो रहे हैं; उन्हें टूटे हुए रिश्ते को सुधारने की तुलना में एक नया विकल्प चुनना आसान लगता है - क्योंकि ऐसा लगता है कि यह बहुत अधिक काम है। हमने दिल्ली के वरिष्ठ सलाहकार मनोचिकित्सक डॉ. संजय चुग से बात की, ताकि इन नतीजों के पीछे के कारण को समझा जा सके। वह हमें 10 चीजें बताते हैं जिन्हें हर किसी को जल्द से जल्द अपने #relationshipdiet में शामिल करना चाहिए।

विश्वास: रिश्ते को बनाए रखने के लिए भागीदारों को एक-दूसरे पर विश्वास और विश्वास होना चाहिए। निरंतर शंका और शंका कभी भी बंधन को मजबूत नहीं होने दे सकती। पार्टनर पर विश्वास की कमी आपके रिश्ते की नींव को हमेशा नाजुक बनाए रखेगी।
प्यार: एक-दूसरे के लिए प्यार और सम्मान की भावना बेहद जरूरी है। यह प्यार है जो अंततः लड़ाई या तर्क के बाद भागीदारों को एक साथ लाएगा। एक-दूसरे की इच्छाओं और इच्छाओं का सम्मान करना एक रिश्ते को पोषित करने में एक लंबा रास्ता तय करता है। जब सम्मान होता है, तो दूसरे व्यक्ति की भावनाओं की परवाह और चिंता होती है। संगति: एक-दूसरे के साथी बनने में सक्षम होने से रिश्ते सिर्फ एक जोड़े होने से कहीं ज्यादा खुशहाल हो सकते हैं। यह साहचर्य है जो हमारे गहरे भय और रहस्यों को साझा करने के लिए आराम देता है। और अक्सर, जब संबंध मंदी में होता है, तो बस दोस्तों के रूप में जुड़े रहने में सक्षम होना ही इसे फिर से जीवित कर देता है।

संचार: एक रिश्ते के सबसे महत्वपूर्ण आधारशिलाओं में से एक भागीदारों के बीच संचार का स्तर है। जब तक संचार के माध्यम खुले नहीं होंगे, तब तक किसी भी विवाद को सौहार्दपूर्ण ढंग से हल नहीं किया जा सकता है।
सहनशीलता: कोई भी दो व्यक्ति एक जैसे नहीं होते। पसंद, पसंद, नापसंद, राय और विचारों में हमेशा अंतर रहेगा। जब तक हम एक-दूसरे को सोचने या महसूस करने के लिए मजबूर किए बिना अपने सहिष्णुता के स्तर का निर्माण नहीं करते और इन मतभेदों को स्वीकार नहीं करते, तब तक रिश्ते में हमेशा तनाव और कड़वाहट बनी रहेगी।
अनिश्चितता से निपटने की क्षमता: कई बार हमारे सामने चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा, जब तनाव होगा और हमारे पास आगे बढ़ने का कोई स्पष्ट रास्ता नहीं होगा। यही वह समय है जब भागीदारों को एक व्यक्ति से बचने या पूरा दबाव डालने के बजाय हाथ पकड़कर उससे लड़ने की जरूरत है। अक्सर, यह रिश्ते के समय से पहले टूटने का कारण बनता है।
एक दूसरे के लिए समय: हम सभी आज व्यस्त जीवन जी रहे हैं। यह एक अपवाद से अधिक आदर्श है। तो, यह बहाना अब और अच्छा नहीं है। अगर आप चाहते हैं कि रिश्ता काम करे, तो इसे प्राथमिकता के तौर पर लें। इसमें शामिल हों, अन्यथा आप इसे अलविदा कह सकते हैं।
सकारात्मकता पर ध्यान दें: कोई भी व्यक्ति पूर्ण नहीं होता है। हम सभी अच्छे और बुरे के मिश्रित बैग हैं। जितना अधिक आप खामियों पर ध्यान देंगे, उतना ही आप रिश्ते में असंतुष्ट और दुखी महसूस करेंगे। रिश्ते को खत्म करना नाखुशी से बाहर निकलने का सबसे अच्छा तरीका प्रतीत होगा। हालांकि, अगर हम एक-दूसरे की सकारात्मकता पर ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करते हैं, तो यह हमें एक-दूसरे के साथ बने रहने के लिए बहुत ताकत दे सकता है, क्योंकि यह रिश्ते को प्रयास के लायक बनाता है।
माफ़ी: सॉरी कहना शायद कभी-कभी 'आई लव यू' कहने से ज्यादा महत्वपूर्ण होता है! हम सभी गलतियाँ करेंगे और गलत होंगे, लेकिन यह किसी रिश्ते को खत्म करने का आधार नहीं हो सकता। दंपत्तियों को एक-दूसरे के प्रति नाराजगी जताने के बजाय एक-दूसरे को क्षमा करना सीखना चाहिए।
बड़ी तस्वीर को देखते हुए: रिश्ते पर केवल एक पहलू के बजाय उसकी समग्रता पर ध्यान दें। हम सभी को कुछ समायोजन करने की आवश्यकता है। कोई भी रिश्ता हर क्षेत्र में 10 पर 10 परफेक्ट नहीं होगा। रिश्ते की संतुष्टि को विभिन्न स्तरों पर मापा जा सकता है, जैसे सामाजिक, भावनात्मक, व्यक्तिगत, वित्तीय आदि। इसलिए, लापता पहलू पर उपद्रव करने के बजाय रिश्ते के बारे में समग्र दृष्टिकोण रखने का प्रयास करें।

Share this story