Samachar Nama
×

असली सिल्क साड़ी की ऐसे करें पहचान,नहीं ठग पायेंगे आपको दुकानदार 

;

 लाइफस्टाइल न्यूज़ डेस्क,साड़ी इंडियन ट्रेडिशन का हिस्सा है। भारत के हर कोने में आपको इसके कई डिजाइन और फैब्रिक मिल जाएंगे। हर मौसम के लिए अलग-अलग फैब्रिक में साड़ी आती हैं। गर्मियों में लोग कॉटन की साड़ी पहनना पसंद करते हैं। जबकि सर्दी में सिल्क की साड़ी पहनी जाती है। सिल्क साड़ी का ट्रेंड एक बार फिर लौट आया है। शादी-ब्याह में ज्यादातर लोग सिल्क की साड़ी ही पहनते हैं। जब भी बात सिल्क साड़ी की होती है तो बनारत का नाम जुबां पर जरूर आता है। हालांकि, बहुत कम ही लोग हैं जो सिल्क साड़ी की पहचान कर पाते हैं। प्योर सिल्क की पहचान ना करने की वजह से कई बार दुकानदार ग्राहक को ठग भी लेते हैं। यहां कुछ टिप्स बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप प्योर सिल्क की साड़ी खरीद सकते हैं।

बनावट- प्योर सिल्क की खासियत इसकी बनावट है । अपनी उंगलियों को कपड़े की सतह पर धीरे से चलाएं। प्योर सिल्क को छूने पर चिकना, मुलायम और थोड़ा ठंडा महसूस होना चाहिए। वहीं अगर सिंथेटिक रेशम फिसलन या ज्यादा चिकना महसूस हो सकता है।

बर्न टेस्ट- साड़ी के कम दिखाई देने वाले हिस्से से कुछ धागे लें और उन्हें जला दें। अगर प्योर सिल्क होगा तो धीरे-धीरे जलेगा, वहीं इसकी गंध बाल जलने जैसी होगी और जिसकी राख बारीक होगी। सिंथेटिक मिक्स होने पर प्लास्टिक जैसी गंध होगी।

बुनाई और डिजाइन- प्योर सिल्क की साड़ियों में अक्सर हैवी बुनाई पैटर्न और डिजाइन होते हैं। ऐसे में बुनाई को ध्यान से देखें। ऐसे डिजाइन जो बहुत सही दिखते हैं या उनमें गहराई की कमी है, वे सिंथेटिक फैब्रिक मिक्स होने का संकेत है।

पानी का टेस्ट करें- कहा जाता है कि साड़ी पर पानी की एक छोटी बूंद डालें। अगर प्योर सिल्क होगा तो पानी को धीरे-धीरे सोखेगा, लेकिन अगर सिंथेटिक कपड़ा होगा तो पानी फिसलेगा।

ट्रांसपेरेंसी को चेक करें- साड़ी को उजाले के सामने पकड़ें। अगर उजाला कपड़े के माध्यम से चमकता है, तो इसमें कम धागे की संख्या या सिंथेटिक मिक्स हो सकता है।

Share this story

Tags