Samachar Nama
×

अगर आपके भी सर्दियों मे बैठते या चलते वक्त होता है दर्द तो यह इस बीमारी के हो सकते हैं संकेत 

अगर आपके भी सर्दियों मे बैठते या चलते वक्त होता है दर्द तो यह इस बीमारी के हो सकते हैं संकेत 
हेल्थ न्यूज़ डेस्क,बिजी लाइफस्टाइल और बिजी वर्क शेड्यूल की वजह से आज लोगों को कई तरह की बीमारियों का सामना करना पड़ रहा है। जहां कभी ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल जैसी बीमारियों को बहुत गंभीर माना जाता था, वहीं अब ये बीमारियां लोगों में बहुत आम हो गई हैं। इससे आज लोग दिल की गंभीर बीमारियों के शिकार हो रहे हैं। हाई कोलेस्ट्रॉल भी इन बीमारियों के बढ़ने का कारण होता है। कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का सीधा असर आपके दिल की सेहत पर पड़ता है। पहला तो अपनी और बाहर की चीजों को खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता है, जिसे कंट्रोल करना काफी मुश्किल हो जाता है। आज हम आपको एक ऐसे लक्षण के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका सीधा संबंध कोलेस्ट्रॉल से है।
 
कोलेस्ट्रॉल आमतौर पर दो प्रकार का होता है
अच्छा कोलेस्ट्रॉल और बुरा कोलेस्ट्रॉल। शरीर में इनके बढ़ने के लक्षण बेहद खामोश होते हैं, जिसके कारण कोलेस्ट्रॉल को साइलेंट किलर कहा जाता है। सर्दियों के मौसम में हाई कोलेस्ट्रॉल के कारण कई बीमारियां हो जाती हैं, जिसमें कूल्हे में किसी भी तरह का दर्द महसूस होना एक बड़ा संकेत है। इस रोग के दौरान कूल्हे में बहुत दर्द होता है।
 
उच्च कोलेस्ट्रॉल कूल्हे की मांसपेशियों को प्रभावित करता है
उच्च कोलेस्ट्रॉल शरीर में वसा के रूप में होता है और जब यह बढ़ जाता है तो यह शरीर के रक्त प्रवाह को प्रभावित करता है। शरीर के सिस्टम को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि खून शरीर में ऑक्सीजन के साथ मिल जाता है और जब यह शरीर के विभिन्न हिस्सों में नहीं पहुंचता है तो दर्द पैदा होने लगता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि शरीर में दर्द का बढ़ना ऑक्सीजन की कमी के कारण होता है।
 
दर्द को नज़रअंदाज़ न करें
आमतौर पर लोग इस तरह के दर्द को नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन उन्हें गंभीरता से लेना बेहद जरूरी है। आपके कूल्हे शरीर के किसी अन्य अंग की तरह नहीं हैं। इनकी रचना अलग होती है, इसलिए इनमें उत्पन्न होने वाला दर्द गठिया जैसी समस्या का कारण भी हो सकता है।
 
उच्च कोलेस्ट्रॉल के लक्षण
अगर थोड़ी सी भी फिजिकल एक्टिविटी करने के बाद आपके हिप्स में दर्द होता है तो यह हाई कोलेस्ट्रॉल का संकेत है। इसे नजरअंदाज न करें, यही छोटा सा दर्द बाद में बड़ी बीमारी बन सकता है, इसलिए तुरंत डॉक्टर से सलाह लें।

Share this story

Tags