×

 headache: सिर दर्द की समस्या से पाएं छुटकारा, जानिए आसान उपाय

s

हेल्थ डेस्क,जयपुर!!आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव हमारा दैनिक साथी बन गया है। इसके अलावा, नींद की कमी, शरीर की उपेक्षा और उचित आहार की कमी से कई तरह की शारीरिक समस्याएं हो सकती हैं। बहुत से लोगों को नियमित सिरदर्द होता है। कुछ लोग फिर से माइग्रेन से पीड़ित होते हैं। कई बार तेज सिरदर्द के साथ जी मिचलाना, आंखों में दर्द और यहां तक ​​कि मुंह और जबड़े में भी दर्द होता है। इस कारण कुछ लोग नियमित दवा भी लेते हैं। हालांकि, बहुत से लोगों को यह नहीं पता होगा कि जीवनशैली में थोड़ा सा बदलाव इस समस्या से निजात दिला सकता है। सिरदर्द और माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के लिए आप कुछ उपाय अपना सकते हैं। उदा.

Home remedies if you have a headache it will be beneficial immediately

ज्यादा चाय और कॉफी पीने से बचें: बहुत से लोग सिरदर्द से छुटकारा पाने के लिए चाय और कॉफी पर निर्भर रहते हैं। बहुतों का विचार, चाय या कॉफी, सिरदर्द को कम करने में मदद करता है। दरअसल, चाय और कॉफी में मौजूद कैफीन तंत्रिकाओं को उत्तेजित करता है, जिससे यह गलतफहमी पैदा हो जाती है कि दर्द कम हो जाता है। बल्कि, बहुत अधिक चाय और कॉफी पीने से शरीर में अन्य जटिलताएं बढ़ सकती हैं।

आराम करें: अगर आपको माइग्रेन या गंभीर सिरदर्द है तो कभी भी काम पर न रहें। घर में अंधेरा होने पर कुछ देर आंखें बंद करके बैठें या लेटें। इस दौरान मोबाइल फोन के इस्तेमाल, गेम खेलने या टीवी देखने से बचें। कुछ देर आराम करने से दर्द से कुछ राहत मिल सकती है।

तेज गंध से बचें: परफ्यूम, अगरबत्ती या रूम फ्रेशनर की तेज गंध भी सिरदर्द का कारण बन सकती है। इसलिए ऐसे किसी भी उत्पाद से दूर रहें जिसमें तेज गंध हो। क्रीम, साबुन और शैम्पू की गंध से बचना ही बेहतर है।

Home Remedy To Get Rid Of Headache - बदलते मौसम की वजह से होता है सिर में  दर्द, ये नुस्खे हैं कारगर - Amar Ujala Hindi News Live

व्यायाम: व्यायाम से माइग्रेन का दर्द और सामान्य सिरदर्द कम हो सकता है। तो दैनिक दिनचर्या में गर्दन के व्यायाम, एरोबिक्स, लचीलेपन के व्यायाम शामिल हो सकते हैं।

कुछ खाद्य पदार्थों से बचें: कुछ खाद्य पदार्थों से बचें। शराब, चॉकलेट, पनीर और कई अन्य खाद्य पदार्थ अक्सर सिरदर्द या माइग्रेन का कारण बन सकते हैं। यदि आप समझते हैं कि कौन से खाद्य पदार्थ आपको इस समस्या का कारण बनते हैं, तो उनसे बचें।

धूम्रपान न करें: धूम्रपान न केवल फेफड़ों को नुकसान पहुंचाता है, यह सिरदर्द और अन्य लक्षणों को बढ़ा सकता है।

एक विशिष्ट नींद कार्यक्रम का पालन करें: एक विशिष्ट नींद कार्यक्रम का पालन करें। नींद हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करती है और अवसाद और चिंता को कम करने में मदद करती है। हालांकि, अगर सोने का कोई निश्चित समय नहीं है, तो सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या बढ़ सकती है। इसलिए रोजाना के समय पर सोने की आदत डालें।

तनाव को नियंत्रित करें: तनाव माइग्रेन और सिरदर्द के प्रमुख कारणों में से एक है। इसलिए जितना हो सके तनाव को नियंत्रित करने की कोशिश करें, आपको काफी राहत मिलेगी। यदि आवश्यक हो तो ध्यान करें।

संतुलित आहार: एक संतुलित आहार जैसे ताजे फल, सब्जियां, साबुत अनाज, प्रोटीन और स्वस्थ वसा माइग्रेन और सामान्य सिरदर्द को रोकने का सबसे अच्छा तरीका है। साथ ही खाली पेट न रहें। समय पर खाने की आदत डालें। भूख लगने पर माइग्रेन की समस्या बढ़ सकती है।

सिरदर्द के प्रकार, कारण और उपचार | मूव इंडिया

एक अच्छी मुद्रा बनाए रखें: पूरे दिन कंप्यूटर या लैपटॉप के सामने बैठने से सिर, गर्दन और कंधे की मांसपेशियों पर दबाव पड़ सकता है, जिससे माइग्रेन या सिरदर्द हो सकता है। इसलिए अपना ख्याल रखें और अपने शरीर की मुद्रा को सही रखें। अपनी रीढ़ को सीधा करके बैठें, आपके कंधे सीधे।

इनमें से कुछ बातों पर गौर करें तो माइग्रेन और सिरदर्द की समस्या को कुछ हद तक कम किया जा सकता है।

Share this story