Samachar Nama
×

आखिर क्या होता है Digital Arrest ? जिसके चलते स्कैमर्स ने महिला के खाते से उड़ा लिए लाखों रूपए 

आखिर क्या होता है Digital Arrest ? जिसके चलते स्कैमर्स ने महिला के खाते से उड़ा लिए लाखों रूपए 

टेक न्यूज़ डेस्क - देश में ऑनलाइन ठगी के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। हाल के दिनों में ठगी के तरीकों में काफी बदलाव देखने को मिला है। जहां एक तरफ सरकार ऑनलाइन ठगी को रोकने के लिए कड़े प्रयास कर रही है, वहीं दूसरी तरफ ठगी के तरीकों में भी बदलाव देखने को मिला है। वहीं, इन दिनों डिजिटल अरेस्ट के मामले भी सामने आ रहे हैं। हालिया मामला उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से सामने आया है, जहां ठगों ने एक महिला को डिजिटली अरेस्ट करके वीडियो कॉल पर न सिर्फ उससे 2 लाख रुपये ठग लिए, बल्कि महिला के कपड़े भी उतरवा दिए। पूरा मामला जानने से पहले आइए जानते हैं कि आखिर ये डिजिटल अरेस्ट क्या है...

क्या है डिजिटल अरेस्ट?
सबसे पहले आइए जानते हैं कि डिजिटल अरेस्ट क्या है? तो आपको बता दें कि ये एक नए तरह का साइबर फ्रॉड या ब्लैकमेलिंग का तरीका है। जहां साइबर ठग झूठी कहानी बनाकर या कुछ निजी फोटो और वीडियो का इस्तेमाल करके लोगों को धमकाकर उनसे पैसे ऐंठते हैं।

डिजिटल तरीके से आधे घंटे तक किया गिरफ्तार
ठगों ने गाजियाबाद की एक महिला को डिजिटल तरीके से आधे घंटे तक गिरफ्तार किया और उससे 2 लाख रुपये ठग लिए। दरअसल, पहले महिला के पास एक कॉल आई जिसमें ठगों ने खुद को मुंबई के नारकोटिक्स डिपार्टमेंट से बताया, जिससे महिला डर गई। इसके बाद ठगों ने कहा कि हमें आपकी कुछ खेप मिली है, जिसमें भारी मात्रा में ड्रग्स मिली है।

बैंक और कार्ड की डिटेल ली गई...
इसके साथ ही उसे कॉल पर काफी डराया-धमकाया गया और इसके बाद बैंक और कार्ड की डिटेल मांगने लगे। इतना ही नहीं ठगों ने फिर महिला के क्रेडिट कार्ड से 2 लाख रुपये उड़ा लिए। इतना ही नहीं, आईडी प्रूफ लेने के लिए महिला का वीडियो भी रिकॉर्ड किया गया। कॉल के दौरान महिला से कपड़े उतारने को भी कहा गया, हालांकि, कॉल कटने के बाद महिला को एहसास हुआ कि उसके साथ ठगी हो गई है।

Share this story

Tags