Samachar Nama
×

घर में इनवर्टर फटने से चली गई 4 लोगों की जान,भूलकर भी न करें यह बड़ी गलतियाँ 

;

टेक न्यूज़ डेस्क,देशभर में इन दिनों भयंकर गर्मी पड़ रही है। कुछ जगह तो तापमान 46 डिग्री से ऊपर बना हुआ है। ऐसे में आये दिन अलग-अलग हिस्सों से आग लगने की खबरें लगातार सामने आ रही हैं। AC और फ्रिज बम की तरह फट रहे हैं। वहीं, कुछ जगह शॉर्ट सर्किट के कारण बिल्डिंग आग की चपेट में आ रही हैं। हाल ही में राजधानी दिल्ली से अब एक इनवर्टर फटने का भी मामला सामने आया है जिसकी वजह से 4 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि इनवर्टर में आग लगने से पूरा परिवार खत्म हो गया।इसलिए यह कहना गलत नहीं होगा कि ये उपकरण जितना काम का है उतना ही खतरनाक भी साबित हो सकता है। अगर आप भी अपने घर या ऑफिस में इनवर्टर का यूज कर रहे हैं तो अभी सावधान हो जाएं। इनवर्टर का सही से रखरखाव आपको बड़ी मुश्किल में पड़ने से बचा सकता है। एक गलती इनवर्टर में ब्लास्ट का कारण भी बन सकती है। इसलिए आज हम आपको जो 3 बातें बताएंगे उसे गलती से भी इग्नोर न करें।

1. वायरिंग करें चेक
आजकल कुछ लोग पैसा बचाने के चक्कर में कई बार खुद ही इसकी वायरिंग करने लग जाते हैं या कभी-कभी किसी कम एक्सपीरियंस वाले को इसकी फिटिंग के लिए बुला लेते हैं। इतना ही नहीं कुछ तो सस्ते के चक्कर में लो क्वालिटी वाले तार का इस्तेमाल करते हैं लेकिन आपकी ये गलती आपको किसी दिन बड़ी मुश्किल में डाल सकती है। ऐसा करने से किसी दिन शॉर्ट सर्किट हो सकता है। जो इनवर्टर में ब्लास्ट का कारण बन सकता है।

2. पानी न डालना
समय-समय पर इनवर्टर की बैटरी में पानी डालना काफी जरूरी है लेकिन कुछ लोग महीनों तक बैटरी को चेक ही नहीं करते जिससे उसका पानी सूख जाता है। जो किसी दिन आपके लिए बड़ा खतरा बन सकता है। कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि आपको हर 45 दिन बाद बैटरी के वॉटर लेवल को चेक करना चाहिए और इसमें सिर्फ डिस्टिल्ड वाटर का इस्तेमाल करना चाहिए।

3. वेंटिलेशन का रखें ध्यान
इनवर्टर को कभी भी ऐसी जगह न रखें जहां वेंटिलेशन अच्छी न हो क्योंकि ऐसे में इनवर्टर और बैटरी दोनों को काफी नुकसान पहुंचता है। इनवर्टर जितना ठंडा रहेगा उतने ही अच्छे से काम करेगा। इसलिए सही वेंटिलेशन का होना जरूरी है। वेंटिलेशन न होने पर इनवर्टर ओवरहीट होने से ब्लास्ट भी हो सकता है।

Share this story

Tags