Samachar Nama
×

अगर आपके साथ भी होता है किसी भी कैटेगरी का फ्रॉड तो घबराने की नहीं कोई बात, फौरन इस सरकारी पोर्टल पर करे शिकायत 

अगर आपके साथ भी होता है किसी भी कैटेगरी का फ्रॉड तो घबराने की नहीं कोई बात, फौरन इस सरकारी पोर्टल पर करे शिकायत 

टेक न्यूज़ डेस्क - अगर आपको फोन कॉल, एसएमएस या व्हाट्सएप के जरिए कोई संदिग्ध गतिविधि दिखती है, तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है। आप भारत सरकार के चक्षु पोर्टल का इस्तेमाल कर सकते हैं। भारत सरकार का दूरसंचार विभाग धोखाधड़ी की अलग-अलग श्रेणियों की रिपोर्ट करने की सुविधा देता है। इस लेख में हम धोखाधड़ी की अलग-अलग श्रेणियों के बारे में जानकारी दे रहे हैं, जिनके बारे में शिकायत की जा सकती है।

केवाईसी के नाम पर धोखाधड़ी
अगर आपको बैंक, बिजली, गैस कनेक्शन, बीमा पॉलिसी से संबंधित केवाईसी के नाम पर कोई कॉल या एसएमएस आता है, तो आप इसकी रिपोर्ट चक्षु पोर्टल पर कर सकते हैं।

फर्जी सरकारी अधिकारी बनकर धोखाधड़ी
अगर आपको किसी सरकारी अधिकारी के नाम से कोई धोखाधड़ी वाली कॉल, एसएमएस या व्हाट्सएप मैसेज आता है, तो आप तुरंत इसकी रिपोर्ट चक्षु पोर्टल पर कर सकते हैं।

फर्जी कस्टमर केयर हेल्पलाइन
अगर आपको कस्टमर केयर हेल्पलाइन से कोई फोन कॉल, एसएमएस या व्हाट्सएप मैसेज आता है और आपको यह संदिग्ध लगता है, तो आप चक्षु पोर्टल पर जा सकते हैं।

ऑनलाइन जॉब या ऑफर के नाम पर धोखाधड़ी
अगर आप व्हाट्सएप मैसेज के जरिए किसी फर्जी ऑनलाइन जॉब ऑफर, गिफ्ट या लोन ऑफर के झांसे में आ जाते हैं तो आप इसकी रिपोर्ट चक्षु पोर्टल पर कर सकते हैं।

मैलवेयर लिंक या वेबसाइट के जरिए धोखाधड़ी
कई बार स्मार्टफोन यूजर मैलवेयर लिंक पर क्लिक कर देता है। ऐसा करने से यूजर वित्तीय धोखाधड़ी का शिकार हो जाता है। ऐसी धोखाधड़ी के बारे में आप चक्षु पोर्टल पर जा सकते हैं।

सेक्सटॉर्शन
सेक्सटॉर्शन यानी किसी व्यक्ति की नग्न तस्वीरें वायरल करने की धमकी देना या किसी को यौन क्रिया करने के लिए मजबूर करना भी अपराध है। अगर ऐसी धमकी के साथ पैसे मांगे जाते हैं तो आप इसकी रिपोर्ट चक्षु पोर्टल पर कर सकते हैं।

साइबर क्राइम के पीड़ित कहां रिपोर्ट कर सकते हैं
अगर आप साइबर क्राइम के शिकार हैं तो आप साइबर क्राइम हेल्पलाइन नंबर 1930 पर कॉल कर सकते हैं। इसके अलावा आप https://www.cybercrime.gov.in. वेबसाइट पर भी रिपोर्ट कर सकते हैं। साइबर क्राइम से जुड़े मामले चक्षु पोर्टल पर हैंडल नहीं किए जाते।

Share this story

Tags