Samachar Nama
×

क्या iPhone का ज्यादा इस्तेमाल करने से उंगलियों में होने लगती है समस्या ? यहां जाने इसके बारे में सबकुछ

क्या iPhone का ज्यादा इस्तेमाल करने से उंगलियों में होने लगती है समस्या ? यहां जाने इसके बारे में सबकुछ

टेक न्यूज़ डेस्क - हाल ही में सोशल मीडिया पर "आईफोन फिंगर" शब्द की चर्चा तेजी से फैली है। ऐसा कहा जाता है कि यह स्मार्टफोन, खासकर आईफोन के अत्यधिक इस्तेमाल से होने वाली समस्या है। लोगों का मानना है कि फोन पकड़ते समय छोटी उंगली पर दबाव पड़ने से उस पर निशान या डेंट पड़ जाता है। इसको लेकर टेक्नो विशेषज्ञ चिंतित हैं. आइये जानते हैं इसके बारे में सबकुछ. अपने दोनों हाथों की छोटी उंगलियों को देखें। क्या एक उंगली दूसरी की तुलना में अधिक टेढ़ी दिखती है? यह निशान खासतौर पर उस हाथ की छोटी उंगली पर ज्यादा दिखाई दे सकता है जिसमें आप फोन को ज्यादा पकड़ते हैं।

क्या यह कोई बीमारी है?
हालांकि कई लोग "आईफोन फिंगर" को लेकर चिंतित हैं, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि यह कोई बीमारी नहीं है। न्यूयॉर्क पोस्ट की रिपोर्ट के मुताबिक, हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. पीटर इवांस का कहना है कि छोटी उंगली पर यह निशान होना आम बात है। हर किसी की उंगलियां थोड़ी अलग होती हैं। व्यावसायिक चिकित्सक अप्रैल हिब्लर और हाथ सर्जन डॉ. माइकल गीरी डॉ. इवांस से सहमत हैं। उनका कहना है कि ''आईफोन फिंगर'' कोई मेडिकल शब्द नहीं है. हालांकि, डॉ. इवांस का यह भी कहना है कि कुछ लोगों को पहले से ही उंगली संबंधी समस्या हो सकती है और ज्यादा फोन इस्तेमाल से यह समस्या बढ़ सकती है। लगातार फोन के इस्तेमाल से जोड़ों में दर्द हो सकता है। लेकिन डॉक्टर यह साफ कर चुके हैं कि फोन के ज्यादा इस्तेमाल से उंगलियों का आकार टेढ़ा हो जाना एक मिथक है।

फ़ोन के उपयोग से होने वाली समस्याएँ
हालाँकि "आईफोन फिंगर" कोई बीमारी नहीं है, डॉ. इवांस फोन के इस्तेमाल से होने वाली कुछ अन्य समस्याओं के बारे में बताते हैं। जैसे "स्मार्टफोन एल्बो" - जिसे मेडिकल भाषा में क्यूबिटल टनल सिंड्रोम कहा जाता है। ऐसा उन लोगों के साथ हो सकता है जो घंटों तक फोन को 90 डिग्री से ज्यादा मोड़कर अपनी कोहनी के सहारे संभालते हैं। इससे छोटी उंगली में सुन्नता या झुनझुनी हो सकती है।

इसके अलावा डॉक्टर अत्यधिक फोन इस्तेमाल से 'टेक्स्टिंग थंब' या 'टेक्स्टिंग नेक' की समस्या की भी चेतावनी देते हैं। अत्यधिक टेक्स्टिंग और स्वाइप करने से अंगूठे के जोड़ों में दर्द हो सकता है। यह आदत गर्दन के लिए भी अच्छी नहीं है। हमारे सिर का वजन लगभग 10 से 12 किलो होता है। झुककर फोन देखने से गर्दन की मांसपेशियों पर दबाव बढ़ता है, जिससे दर्द और अकड़न हो सकती है।

Share this story

Tags