Samachar Nama
×

अलर्ट! अगर आप भी इस्तेमाल कर रहे है इस कंपनी का Wi-Fi तो हो जाए सावधान, निजी डेटा चोरी होने का है खतरा 

अलर्ट! अगर आप भी इस्तेमाल कर रहे है इस कंपनी का Wi-Fi तो हो जाए सावधान, निजी डेटा चोरी होने का है खतरा 

टेक न्यूज़ डेस्क - सरकारी साइबर सुरक्षा एजेंसी CERT-In ने वाई-फाई राउटर का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए चेतावनी जारी की है। कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (CERT-In) ने घरों और दफ्तरों में इस्तेमाल होने वाले इस वाई-फाई राउटर के फर्मवेयर में कई खामियां पाई हैं, जिससे यूजर को भारी नुकसान हो सकता है। एजेंसी ने इस वाई-फाई राउटर के इस्तेमाल के लिए एक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें इन खामियों का जिक्र किया गया है। अगर आप भी अपने घर या ऑफिस में इस कंपनी का वाई-फाई राउटर इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपको इसका फर्मवेयर अपडेट करना होगा। CERT-In ने Digisol कंपनी के वाई-फाई राउटर में ये खामियां पाई हैं। इस कंपनी के राउटर के फर्मवेयर में इस समस्या के कारण यूजर्स का निजी डेटा चोरी हो सकता है। आइए जानते हैं इस राउटर में पाई गई खामियों के बारे में...

सीवीई-2024-2257
CERT-In ने इस वाई-फाई राउटर की पासवर्ड पॉलिसी में पहली खामी ढूंढी है. एजेंसी ने अपनी एडवाइजरी में कहा कि हैकर्स फिजिकल एक्सेस के जरिए पासवर्ड बना सकते हैं, जिससे राउटर का गलत इस्तेमाल हो सकता है और साइबर धोखाधड़ी की घटनाएं हो सकती हैं।

सीवीई-2024-4231
हैकर्स इस वाई-फाई राउटर के भौतिक एक्सेस के साथ-साथ यूआरटी पिन तक भी पहुंच सकते हैं। एडवाइजरी के मुताबिक, हैकर्स यूआरटी पिन की पहचान करके राउटर के कमजोर सिस्टम रूट शेल को हैक कर सकते हैं और लक्षित सिस्टम से संवेदनशील जानकारी एकत्र कर सकते हैं।

सीवीई-2024-4232
इस वाई-फाई राउटर की तीसरी सबसे बड़ी कमी पासवर्ड स्टोर करने में एन्क्रिप्शन की कमी है। बिना एन्क्रिप्शन के कोई भी हैकर उसके सिस्टम को कुछ ही सेकंड में हैक कर सकता है. इसके अलावा इसके बाइनरी डेटा को एक्सेस किया जा सकता है। यह खामी Digisol Router DG-GR1321 के हार्डवेयर वर्जन 3.7L और फर्मवेयर वर्जन V3.2.02 में पाई गई है। यूजर्स को तुरंत इस राउटर का लेटेस्ट फर्मवेयर डाउनलोड और अपडेट करना होगा। यूजर्स इस राउटर के फर्मवेयर को इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपडेट कर सकेंगे। इसके अलावा CERT-In ने Apple iTunes और Google Chrome के लिए भी चेतावनी जारी की है। उपयोगकर्ताओं को तुरंत उन्हें नवीनतम सॉफ़्टवेयर से अपडेट करना चाहिए।

Share this story

Tags