×

17 सितंबर को सर्वार्थ सिद्धि योग में मनाई जाएगी विश्वकर्मा पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त

Vishwakarma Puja Mantra and Aarti: विश्वकर्मा पूजा पर आज करें इस आरती और मंत्र का जाप, पूरी होगी हर इच्छा


ज्योतिष न्यूज़ डेस्क: हिंदू धर्म में पर्व त्योहारों को विशेष महत्व दिया जाता हैं वही विश्व के शिल्पकार और बिना विघ्न के मशीनरी के संचालन के लिए जगत्पूज्य भगवान विश्वकर्मा की पूजा की जाती हैं इस साल 17 सितंबर को विश्वकर्मा पूजा सर्वार्थ सिद्धि योग में मनाया जाएगा।

Vishwakarma Puja 2020: आज भी मनाया जा रहा विश्वकर्मा पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त

शास्त्र अनुसार भगवान विश्वकर्मा पितरों की श्रेणी में आते हैं सूर्य के कन्या राशि में प्रवेश के साथ पितरों का पृथ्वीलोक में आगमन माना लिया जाता हैं वे हमारी श्रद्धा भक्ति से प्रसन्न होकर धन, वंश, और आजीविका वृद्धि का आशीर्वाद देते हैं वास्तु, निर्माण या यांत्रिक गतिविधियों से जुड़े लोग अपने शिल्प और उद्योग के लिए विश्वकर्मा पूजा के दिन देवशिल्पी की पूजा करते हैं। 

Vishwakarma Puja 2020: आज भी मनाया जा रहा विश्वकर्मा पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त

आपको बता दें कि इस दिन यंत्रों की साफ सफाई और पूजा होती हैं और कल कारखाने बंद रहते हैं भगवान श्रीकृष्ण की नगरी द्वारका और लंकापुरी का निर्माण विश्वकर्मा ने ही किया था। विश्वकर्मा पूजा के दिन सर्वार्थसिद्धि योग भी बन रहा हैं। 

Vishwakarma Puja Mantra and Aarti: विश्वकर्मा पूजा पर आज करें इस आरती और मंत्र का जाप, पूरी होगी हर इच्छा
जानिए विश्वकर्मा पूजा का मुहूर्त—
17 सितंबर को सुबह छह बजकर 7 मिनट से 18 सितंबर सुबत तीन बजकर 36 मिनट तक योग रहेगा। 17 ​को राहुकाल प्रात: 10 बजकर 30 मिनट से 12 बजे के बीच होने से इस समय पूजा निषिद्ध हैं बाकी किसी भी समय पूजा कर सकते हैं। 

Vishwakarma Puja 2020: आज पूजे जा रहे देवशिल्पी भगवान विश्वकर्माभाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी तिथि को अनंत चतुर्दशी मनाई जाती हैं इस बार यह त्योहार 19 सितंबर को मनाया जाएगा। इस दिन भगवान श्री हरि विष्णु की पूजा आराधना की जाती हैं विष्णु पुराण के मुताबिक अनंत सूत्र बांधने से सारी बाधाओं से मुक्ति मिलती हैं और जीवन में सुख शांति आती हैं। अनंत सूत्र में 14 गांठें होती हैं इस दिन विष्णु सहस्रनाम का पाठ विशेष पुण्यदायक होता हैं पूजा स्थल पर भगवान विष्णु की मूर्ति या चित्र स्थापित कर पीले पुष्प, मिठाई चढ़ाकर दीपक जलाया जाता हैं अनंत कथा सुनकर विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें और अनंत सूत्र को धारण करें इस दिन चार ग्रहों के योग की वजह से केदार नामक शुभ योग बन रहा हैं। 

पूजन का शुभ मुहूर्त— 19 सितंबर को सुबह छह बजकर सात मिनट से लेकर पूरा दिन तक। 

Vishwakarma Puja 2020: आज भी मनाया जा रहा विश्वकर्मा पूजा, जानिए शुभ मुहूर्त

Share this story