Samachar Nama
×

कब है पुत्रदा एकादशी, जानिए तिथि, शुभ मुहूर्त और पारण समय

putrada ekadashi vrat 2022 sawan putrada ekadashi tithi puja muhurat and paran time 

ज्योतिष न्यूज़ डेस्कः हिंदू धर्म में एकादशी व्रत को बेहद ही महत्वपूर्ण माना गया है ये व्रत सभी व्रतों में सबसे अधिक कठिन माना जाता है मान्यताओं के अनुसार एकादशी व्रत करने से व्यक्ति के पाप नष्ट हो जाते हैं और मृत्यु के बाद उसे मोक्ष की प्राप्ति होती है

putrada ekadashi vrat 2022 sawan putrada ekadashi tithi puja muhurat and paran time 

एकादशी का व्रत हर महीने के दोनों पक्षों में एकादशी तिथि को पड़ता है और सभी एकादशी का अपना महत्व होता है पंचांग के अनुसार श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को पुत्रदा एकादशी के नाम से जाना जाता है यह व्रत श्री हरि विष्णु की पूजा आराधा को समर्पित है पुत्रदा एकादशी व्रत संतान सुख की प्राप्ति और संतान की अच्छी सेहत के लिए किया जाता है

putrada ekadashi vrat 2022 sawan putrada ekadashi tithi puja muhurat and paran time 

संतान सुख की प्राप्ति के लिए पूरी निष्ठा के साथ पूजा पाठ और व्रत करने से भक्तों की मनोकामनाएं पूर्ण हो जाती है और सुखों की प्राप्ति होती है इस बार श्रावण मास की पुत्रदा एकादशी का व्रत 8 अगसत दिन सोमवार को रखा जाएगा। इस दिन श्री हरि विष्णु के साथ भोलेनाथ की भी विधिवत पूजा अर्चना करने से भक्तों को दोनों देवों का आशीर्वाद प्राप्त होगा। तो आज हम आपको एकादशी व्रत का शुभ मुहूर्त बता रहे हैं तो आइए जानते हैं। 

एकादशी व्रत की तिथि और पारण समय-
धार्मिक पंचांग के अनुसार श्रावण मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को पुत्रदा एकादशी के नाम से जाना जाता है इस बार यह व्रत 8 अगस्त दिन सोमवार को मनाया जाएगा। एकादशी तिथि का आरंभ 7 अगस्त दिन रविवार रात 11 बजकर 50 से शुरू हो रहा है और अगले दिन 8 अगस्त को रात 9 बजे तक रहेगा। 

putrada ekadashi vrat 2022 sawan putrada ekadashi tithi puja muhurat and paran time 

आपको बता दें कि पुत्रदा एकादशी के व्रत में पारण का विशेष महत्व होता है अगर पारण नियम अनुसार किया जाए तभी शुभ फलों की प्राप्ति होती है साथ ही इस दौरान एकादशी पारण के नियमों का ध्यान रखना बहुत ही जरूरी माना जाता है धार्मिक मान्यताओं के अनुसार पुत्रदा एकादशी का पारण हमेशा शुभ मुहूर्त में ही करना लाभकारी माना जाता है अशुभ मुहूर्त में पारण करने से व्रत का फल निष्फल हो जाता है श्रावण मास की पुत्रदा एकादशी के व्रत का पारण का समय 9 अगस्त, मंगलवार सुबह 5 बजकर 46 मिनट से लेकर 8 बजकर 26 मिनट तक कर सकते हैं। इस मुहूर्त में व्रत का पारण करना बेहद ही लाभकारी माना जाता है। 

putrada ekadashi vrat 2022 sawan putrada ekadashi tithi puja muhurat and paran time 

Share this story