Samachar Nama
×

मैनिपुलेशन हर इंडस्ट्री और ह्यूमन नेचर का हिस्सा: राजीव खंडेलवाल

मुंबई, 11 जुलाई (आईएएनएस)। एक्टर राजीव खंडेलवाल अपनी अपकमिंग वेब सीरीज 'शोटाइम' को लेकर चर्चा में है। एक्टर ने आईएएनएस से बात करते हुए ग्लैमर की चकाचौंध भरी दुनिया के डार्क साइड के बारे में बात की।
मैनिपुलेशन हर इंडस्ट्री और ह्यूमन नेचर का हिस्सा: राजीव खंडेलवाल

मुंबई, 11 जुलाई (आईएएनएस)। एक्टर राजीव खंडेलवाल अपनी अपकमिंग वेब सीरीज 'शोटाइम' को लेकर चर्चा में है। एक्टर ने आईएएनएस से बात करते हुए ग्लैमर की चकाचौंध भरी दुनिया के डार्क साइड के बारे में बात की।

मैनिपुलेशन यानि इंडस्ट्री में चालाकी से अपना काम निकालने के तरीके को इंडस्ट्री का हिस्सा बताया। राजीव ने कहा, "मैनिपुलेशन एक ऐसी चीज है जिसे हम सभी ने अपने स्कूल के दिनों से लेकर अब तक जिस भी इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं, देखा है। मैनिपुलेशन हर इंडस्ट्री और ह्यूमन नेचर का हिस्सा है।"

एक्टर ने कहा कि यह एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री है जहां पैसा शामिल है।

"हर कोई अपने और अपने परिवार के लिए जीवन यापन करने के लिए बाहर है। हमारे लिए यह सोचना बहुत सामान्य सी बात है कि प्रोड्यूसर्स ज्यादा पैसे कमाने के लिए मैनिपुलेट करते हैं उन्हें लगता है कि खुद को कुछ प्रभावशाली लोगों संग जोड़ वो सफल हो जाएंगे। "

"मैंने इसे हकीकत में देखा है। लेकिन सिर्फ इतना कहना है कि ठीक नहीं होगा। जब मैं इंडस्ट्री का हिस्सा नहीं था या जब से इंडस्ट्री अस्तित्व में आई है, तब से ये मैनिपुलेशन हो रहे होंगे...मैनिपुलेशन हमारे इंडस्ट्री का हिस्सा हैं।"

उन्होंने पूछा गया , ''क्या इंडस्ट्री का कोई डार्क साइड है और क्या 'शोटाइम' इसे दिखाता है?''

तुरंत जवाब आया, "हां, ऐसा है।"

"इंडस्ट्री का एक साइड है, जिसके बारे में मुझे यकीन है कि हर कोई जानता होगा.. क्योंकि हम डिप्रेशन, सुसाइड, किसी के पागल हो जाने, ड्रग्स और इंडस्ट्री से आने वाली ऐसी कई कहानियों के बारे में सुनते हैं, जिससे लोगों को लगता है कि इंडस्ट्री में ये सब हो रहा है और वे यह जानने के लिए उत्सुक होंगे कि ऐसा क्यों है..."

उन्होंने कहा कि उनके शो ने उस साइड को छुआ है।

उन्होंने कहा, "'शोटाइम' ने उस पहलू को छुआ है, जिसे आप देखते हैं और जिसके बारे में आपको थोड़ा बहुत पता है। यह काल्पनिक है, लेकिन किसी की कल्पना नहीं है। यह वास्तव में इंडस्ट्री में होते रहने वाली अलग-अलग घटनाएं हैं और उन्हें कहानी के रूप में प्रस्तुत किया गया है, यहां आप इंडस्ट्री की सच्चाई को मनोरंजक तरीके से देखते हैं।''

शो में अरमान की भूमिका निभाने के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, "इस किरदार को निभाना बहुत रोमांचक है क्योंकि मैंने पिछले 20 सालों में इंडस्ट्री में इन किरदारों को देखा है।"

उन्होंने कहा कि वे इंडस्ट्री के ऐसे लोगों से मिले हैं, जिनका रवैया वैसा ही है जैसा उन्होंने शो में दिखाया है।

उन्होंने कहा, "मैंने ऐसे बहुत से लोगों से मुलाकात की है जिनका रवैया ऐसा ही होता है या जो ऐसे ही होते हैं, क्योंकि स्टारडम आपके व्यक्तित्व में बहुत से ऐसे तत्व लाता है जो शायद दूसरों में नहीं होते और इस तरह का किरदार निभाना चुनौतीपूर्ण भी था और आसान भी।"

'शोटाइम' में अरबों की बॉलीवुड इंडस्ट्री की एक छोटी सी झलक है, जो नेपोटिज्म और इंडस्ट्री में सत्ता संघर्ष की कहानी पर आधारित है।

इस शो का निर्माण करण जौहर ने किया है। वहीं निर्देशन मिहिर देसाई और अर्चित कुमार ने किया है।

राजीव खंडेलवाल ने 2002 के शो 'क्या हादसा क्या हकीकत' में नेगेटिव रोल के साथ अपने टीवी करियर की शुरुआत की थी। इसके बाद वह 'कहीं तो होगा' सीरियल में नजर आए। इस शो में आमना शरीफ के संग उनकी केमिस्ट्री को लोगों ने खूब पसंद किया था। राजीव का चैट शो 'सच का सामना' भी काफी पॉपुलर रहा।

टीवी पर अपनी एक्टिंग का दम दिखाने के बाद राजीव ने बड़े पर्दे की तरफ रुख किया। उन्होंने 2008 में एक्शन-थ्रिलर 'आमिर' से बॉलीवुड में डेब्यू किया। इसके बाद राजीव को कुछ और फिल्मों में देखा गया।

--आईएएनएस

पीके/केआर

Share this story

Tags