Samachar Nama
×

कंगना ने पीएम मोदी को रूस का सर्वोच्च सम्मान 'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू एपोस्टल' मिलने पर दी बधाई

नई दिल्ली, 10 जुलाई (आईएएनएस)। हिमाचल प्रदेश के मंडी से बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रूस का सर्वोच्च सम्मान 'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू एपोस्टल' मिलने पर बधाई दी है। कंगना रनौत ने बुधवार को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक वीडियो संदेश जारी किया।
कंगना ने पीएम मोदी को रूस का सर्वोच्च सम्मान 'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू एपोस्टल' मिलने पर दी बधाई

नई दिल्ली, 10 जुलाई (आईएएनएस)। हिमाचल प्रदेश के मंडी से बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रूस का सर्वोच्च सम्मान 'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू एपोस्टल' मिलने पर बधाई दी है। कंगना रनौत ने बुधवार को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक वीडियो संदेश जारी किया।

कंगना रनौत ने इंस्टा पर पीएम मोदी को बधाई देते हुए कहा कि यह अलंकरण सदियों पुराने भारत-रूस मैत्री के गौरव और 140 करोड़ भारतीय का सम्मान है। प्रधानमंत्री मोदी के 10 वर्षों के कार्यकाल में वैश्विक राजनीति में भारत की प्रतिष्ठा में जिस तरह से वृद्धि हुई है, वह वसुधैव कुटुंबकम के सूत्र का साक्षात साकार है। ये समस्त 140 करोड़ भारतवासी के लिए गर्व की बात है। मैं अभिनंदन करती हूं।

प्रधानमंत्री मोदी को मंगलवार को रूस के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल द फर्स्ट-कॉल' से सम्मानित किया गया। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दोनों नेताओं के बीच द्विपक्षीय वार्ता के बाद ग्रैंड क्रेमलिन पैलेस में आयोजित एक समारोह के दौरान प्रधानमंत्री मोदी को देश का सर्वोच्च राजकीय सम्मान प्रदान किया। पीएम मोदी ने इस सम्मान को ग्रहण करने के बाद कहा, "ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल प्राप्त करने पर सम्मानित महसूस कर रहा हूं। मैं इसे भारत के लोगों को समर्पित करता हूं।"

बता दें कि इस 'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द फर्स्ट-कॉल' सम्मान के लिए जो चीजें दी जाती हैं, उसमें एक बैज, एक स्टार, एक ऑर्डर चेन और एक ऑर्डर रिबन होता है। वहीं, युद्ध क्षेत्र में पराक्रम दिखाने वाले को दिए जाने वाले 'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द फर्स्ट-कॉल' सम्मान के तहत एक बैज और स्टार के साथ तलवारें दी जाती हैं।

इस सम्मान की स्थापना ज़ार पीटर-एक ने 1699 के आसपास की थी और यह रूस के सबसे पुराने पुरस्कारों में से एक है। इसे 1918 में समाप्त कर दिया गया था और 1998 में रूस के राष्ट्रपति के आदेश पर फिर से इसे बहाल किया गया।

'ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द फर्स्ट-कॉलेड' को प्रमुख सरकारी और सार्वजनिक हस्तियों, सैन्य नेताओं, विज्ञान, संस्कृति, कला और अर्थव्यवस्था के विभिन्न क्षेत्रों के उत्कृष्ट योगदान और उनकी असाधारण सेवाओं के लिए दिया जाता है। जो रूस की समृद्धि, महानता और गौरव में योगदान करते हैं। साथ ही जो देश की राष्ट्रीय सुरक्षा और संप्रभुता को सुनिश्चित करते हैं। यह मॉस्को के साथ संबंधों को विकसित करने में दिए गए उत्कृष्ट योगदान के लिए विदेशी सरकारों के प्रमुखों और नेताओं को भी दिया जाता है।

--आईएएनएस

एसके/एसकेपी

Share this story

Tags