Samachar Nama
×

Siwan  मनरेगा नहरों की 4580 मीटर तक की गई सफाई
 

मनरेगा


बिहार न्यूज़ डेस्क  प्रखण्ड में नहरों व रजवाहों की सफाई का काम हो रहा है. छोटी नहर व रजवाहों की सफाई मनरेगा के तहत कराई जा रही है. और जाब कार्डधारकों को रोजगार भी मिल रहा है. मनरेगा कार्यायल से मिली जानकारी के अनुसार 15 जून तक सफाई संबंधित कार्य पूरे हो जाएंगे.
प्रखंड में बिहारी और सोनहुला नहरों की सफाई का काम हो रहा है. नहरों की 4580 मीटर तक सफाई कराई गई. ग्रामीणों उनका आरोप है कि एक दशक से अधिक समय से इन नहरों में पानी नहीं मिल रहा है. बावजूद जल संसाधन विभाग, मनरेगा, जिले के वरीय अधिकारी, प्रशासन व जनप्रतिनिधि कोई काम करना उचित नहीं समझ रहे हैं. मनरेगा पीओ तुषार चंदा ने बताया दो महीने पहले इसकी शुरआत की गई थी. इसके लिए स्थानीय स्तर पर तेजी से काम किया जा रहा है.
दूसरे जगहों की नहर की सफाई नहीं हुई प्रखंड मुख्यालय स्थित दर्जनों गांवों में नहरों का जाल बिछाया गया था. जिससे किसानों को आसानी से खेती करने के लिए पानी मिल जाता था. लेकिन विगत दस वर्षों से नहरो में पानी नहीं आने से लोगो को काफी असुविधा हो रही है. जिनमें सेलौर, बेलौर, केलहुरुआ, कोढवलिया, ओदिखोर, बाजीदही, सुरुआर गुण्डी, कुडेसर, चकिया, भलुआ, पचनेरुआ, रेवासी, खाप जतौर, जतौर गांव शामिल हैं.
नहर पर टिकी है ग्रामीण क्षेत्रों की सिचाई व्यवस्था
प्रखंड के 2 दर्जन से अधिक गांव की सिंचाई व्यवस्था नहरों पर टिकी हुई थी. जिससे वहां के किसान आसानी से हर मौसम में खेती कर लेते थे. लेकिन 10 वर्षों में नहरों में पानी नहीं आने से अधिकतर मौसमी खेतीयों पर असर पड़ा है. जबकि कई किसानों ने खेती करना छोड़ दिया.

क्या कहते हैं मनरेगा पीओ
मनरेगा पीओ तुषार चंदा ने बताया कि नहरों की सफाई से जहां लोगों को रोजगार मिलेगा. वहीं, आने वाले दिनों में सिंचाई सुविधा भी बढ़ेगी.


सिवान न्यूज़ डेस्क
 

Share this story