Samachar Nama
×

Sikar एसके अस्पताल में चल रहा इलाज, सड़क हादसे में गर्दन की हड्डी टूट गई
 

Sikar एसके अस्पताल में चल रहा इलाज, सड़क हादसे में गर्दन की हड्डी टूट गई

राजस्थान न्यूज डेस्क, सड़क हादसे में घायल सीकर की एक बच्ची को जयपुर में डॉक्टरों ने ब्रेन डेड घोषित कर दिया. इसके बाद परिजन उनके अंतिम संस्कार की तैयारियां करने लगे। इसी बीच बच्ची की हार्ट बीट और पल्स लौट आई। अब बच्ची का इलाज सीकर के एसके अस्पताल में चल रहा है। फिलहाल वह कोमा में हैं।

दरअसल, सीकर के वार्ड 34 निवासी मिताली पारीक (23) जयपुर के महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस के छात्र संजय पारीक की बेटी है. सोमवार को मिताली कार से बर्थडे पार्टी के लिए निकली। इस दौरान उनकी कार सड़क पर एक पेड़ से टकरा गई। हादसे में मिताली के गर्दन की हड्डी टूट गई। घायल मिताली को जयपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। सिर में चोट लगने के कारण उन्हें वेंटीलेटर पर शिफ्ट किया गया था।

डॉक्टरों ने आज सुबह मिताली को ब्रेन डेड घोषित कर दिया। फिर परिजन मिताली को एंबुलेंस में लेकर सीकर के लिए रवाना हो गए। एंबुलेंस में डॉक्टर भी मौजूद थे। धीरे-धीरे पल्स और हार्ट बीट रुक गई। मिताली का शरीर भी ठंडा पड़ गया था। मिताली के साथ आए परिजनों ने घर पर इसकी जानकारी दी। परिजन घर में ही दाह संस्कार की तैयारी करने लगे, लेकिन साथ में आए डॉक्टर ने मिताली की हार्ट बीट और पल्स चेक की तो वह चल रही थी। इसके बाद मिताली को तुरंत सीकर के एसके अस्पताल लाया गया। जहां उन्हें इलाज के लिए आईसीयू में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के मुताबिक मिताली की नब्ज और शरीर के अन्य अंग काम कर रहे हैं। दिमाग की समस्या के कारण वह कोमा में हैं।
सीकर न्यूज डेस्क!!!
 

Share this story