Samachar Nama
×

Pratapgarh Uttrapradesh डिजिटल अरेस्ट मामलों में कार्रवाई के लिए विशेष टीम उतारी

Lucknow  जलकल की जमीन पर एक और दावा, जल्दी बड़ी कार्रवाई होगी

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  साइबर ठगों ने बुजुर्ग महिला को पांच दिन के लिए डिजिटल अरेस्ट किया और एक करोड़  लाख रुपये ट्रांसफर करा लिए. शहर में कई लोग इस प्रकार की ठगी का शिकार हो चुके हैं. पुलिस कमिश्नर के निर्देश पर डिजिटल अरेस्ट के मामलों में कार्रवाई के लिए एक विशेष टीम गठित की गई है. टीम में उन पुलिसकर्मियों को शामिल किया गया है, जिन्होंने पूर्व में साइबर ठगी पर काम किया है.

पुलिस कमिश्नर लक्ष्मी सिंह ने बताया कि बीते कुछ समय से पार्ट टाइम नौकरी और पार्सल में ड्रग्स होने का डर दिखाने के बाद डिजिटल अरेस्ट कर साइबर ठगी करने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. इसी को ध्यान में रखते हुए विशेष टीम बनाई गई है. टीम ने विशेष प्रकार की ठगी करने वाले गिरोह के जालसाजों के बारे में अहम जानकारी जुटाई है. दोनों गिरोह के मुख्य आरोपियों और सरगना द्वारा जिनके खातों का इस्तेमाल किया जाता है, उनके बारे में अहम इनपुट पुलिस के पास है.

उन्होंने बताया कि सरगना से लेकर खाते उपलब्ध कराने वाले आरोपियों पर शिकंजा कसा जाएगा. साइबर विशेषज्ञों की भी टीम मदद ले रही है. आभासी खातों पर भी एक टेक्निकल टीम काम कर रही है. इसके अलावा साइबर ठगी के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए सोसाइटियों और सेक्टरों में विशेष अभियान चलाया जाएगा. लोगों को हेल्पलाइन नंबर समेत अन्य तरीकों की जानकारी दी जाएगी ताकि उन्हें ठगी से बचाया जा सके. लोगों को बताया जाएगा कि अगर गोल्डन ऑवर में पीड़ित ठगी की शिकायत कर देता है तो रकम फ्रीज होने की पूरी संभावना रहती है. इंडियन साइबर क्राइम कोऑर्डिनेशन सेंटर के की रिपोर्ट के अनुसार इस वर्ष के शुरुआती चार महीने में डिजिटल अरेस्ट 4,599 मामले सामने आ चुके हैं.

साइबर ठगी करने वाले दो गिरोह पर कार्रवाई की तैयारी है. इस मामले में कार्रवाई करने के लिए गठित विशेष टीमें गिरोह पर काम कर रही हैं. दोनों गिरोह के सरगना समेत अन्य जालसाजों की जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी. -लक्ष्मी सिंह, पुलिस कमिश्नर

 

 

प्रतापगढ़ न्यूज़ डेस्क

Share this story

Tags