Samachar Nama
×

Pratapgarh शुआट्स के ‘लाल’ परिवार के मददगारों पर भी कसेगा शिकंजा, करीबियों के बारे में जानकारी जुटा रही पुलिस, एक संस्थान के चेयरमैन पर नजर
 

Pratapgarh शुआट्स के ‘लाल’ परिवार के मददगारों पर भी कसेगा शिकंजा, करीबियों के बारे में जानकारी जुटा रही पुलिस, एक संस्थान के चेयरमैन पर नजर


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  सामूहिक धर्मांतरण के आरोपों में घिरे शुआट्स और लाल परिवार के करीबियों और मददगारों पर भी पुलिस शिकंजा कसने की तैयारी में है. सभी की सूची तैयार कर उनका ब्योरा खंगाला जा रहा है. इस सूची में लखनऊ में संचालित एक मिशनरी स्कूल के चेयरमैन का नाम भी है. जिस पर लखनऊ व अन्य शहरों में धोखाधड़ी के करीब डेढ़ दर्जन केस दर्ज हैं. उसके कुलपति की मदद के लिए भागदौड़ व पैरोकारी की जानकारी पुलिस के सामने आई है.

विदेशी फंड का डिस्ट्रीब्यूटर है चेयरमैन पुलिस के मुताबिक, जांच में लखनऊ में संचालित मिशनरी के शिक्षण संस्थान में हर साल करोड़ों का फंड यूएसए और ऑस्ट्रेलिया से आता है. शिक्षा व सामाजिक कार्यों के नाम पर आने वाले इस फंड को धर्मांतरण में खर्च किया जाता है. चेयरमैन शुआट्स समेत आसपास संचालित कई मिशनरी स्कूलों, संस्थानों और धार्मिक स्थलों को विदेशी फंड उपलब्ध कराता है.
लखनऊ जा सकती पुलिस टीम पुलिस को धर्मांतरण के मारस्टमाइंड आरबी लाल और शुआट्स के कई पदाधिकारियों की तलाश है. अहम जानकारी हाथ लगने पर पुलिस लखनऊ भी जा सकती है. टीम कुलपति की तलाश के साथ प्रकाश में आए मिशनरी शिक्षण संस्थान के चेयरमैन से भी पूछताछ कर सकती है. पुलिस चेयरमैन के सहारे धर्मांतरण के आरोपितों की तह पर जाने के लिए तानाबाना बुन रही है.
गैंगस्टर का आरोपी विनोद बी लाल शुआट्स के डायरेक्टर विनोद बी लाल की क्रिमिनल हिस्ट्री इशारा कर रही है कि वह अपने भाई आरबी लाल से चार कदम आगे हैं. उनके खिलाफ धोखाधड़ी, हत्या समेत गंभीर धाराओं में 32 मुकदमे दर्ज हैं. वर्ष 2014 व 2017 में सबसे अधिक दस-दस मुकदमे दर्ज हुए. वर्ष 2015 में एक और 2018 में घोखाधड़ी के पांच मुकदमे दर्ज हुए. डायरेक्टर पर गैंगस्टर का भी केस दर्ज है. कुलपति के एक और भाई प्रो. वाइस चांसलर एसबी लाल पर दस और पत्नी सुधा लाल पर तीन केस हैं.
मुकदमों में शुआट्स का लाखों खर्च भले ही कुलपति आरबी लाल व उनके परिजनों पर दर्ज केस व्यक्तिगत हों, लेकिन इन मुकदमो की पैरवी में शुआट्स नैनी के लाखों रुपये खर्च हो रहे हैं. शुआट्स के प्रोफेसर एसके सिंह का कहना है कि शुआट्स में आने वाली करोड़ों की धनराशि और छात्रों से ली जाने वाली फीस से अर्जित रकम का बड़ा हिस्सा व्यक्तिगत मुकदमों में खर्च किया जाना भी भ्रष्टाचार है.
सीबीआई से कराएं शुआट्स की जांच फतेहपुर. भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा ने मुख्यमंत्री से सामूहिक धर्मांतरण और करोड़ों के भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे शुआट्स नैनी की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है. अल्पसंख्यक मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष मो. असलम ने सीएम को भेजे गए मेल में जौहर यूनिवर्सिटी रामपुर की तुलना में शुआट्स में सैकड़ों गुना बड़े भ्रष्टाचार का दावा किया है. उन्होंने शुआट्स को पूर्वी उत्तर प्रदेश, बिहार व छत्तीसगढ़ के गरीबों का धर्मांतरण कराने वाल बड़ा केन्द्र बताया है.


प्रतापगढ़ न्यूज़ डेस्क
 

Share this story