Samachar Nama
×

Pratapgarh अस्पतालों में जांच शुरू नर्सिंगहोम सील किया, अनियमितता पर शहर के दो नर्सिंगहोम को दिया नोटिस
 

Pratapgarh अस्पतालों में जांच शुरू नर्सिंगहोम सील किया, अनियमितता पर शहर के दो नर्सिंगहोम को दिया नोटिस


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  स्वास्थ्य मंत्री का सख्त रुख देख सीएमओ के निर्देश पर  सरकारी व निजी अस्पतालों में जांच शुरू की गई. इससे अस्पताल संचालकों में खलबली मची रही. कई लोग अस्पताल बंद कर गायब हो गए. इस दौरान एक नर्सिंगहोम सील किया गया और दो नर्सिंग होम को नोटिस दिया गया.

अस्पतालों में लापरवाही के चलते हो रही मौतों पर शासन का सख्त रुख देख सीएमओ ने कमिश्नर, डीएम व एसपी को पत्र भेजकर जांच अभियान में पुलिस की मदद मांगी. इसके बाद  4-4 सदस्यीय दो टीमें बनाकर निजी अस्पतालों में जांच को भेजी गई. सीएमओ डॉ. जीएम शुक्ला ने बेलखरनाथ सीएचसी, दीवानगंज पीएचसी, दीवानगंज हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर का जायजा लिया. जहां अनुपस्थित मिले तीन डॉक्टर, कर्मी व सीएचओ का वेतन रोककर जवाब मांगा. अधीक्षक को सफाई के लिए नसीहत दी. नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र चिलबिला में एएनएम बिना भ्रमण पंजिका पर दर्ज किए क्षेत्र में गई थी, उसे चेतावनी दी. उधर निजी अस्पतालों को चेक करने निकली टीम ने मीराभवन में वैशाली नर्सिंगहोम को अनियमितता व डॉक्टर न पाकर सील कर दिया. अभिलेख तलब किए गए है. मीराभवन में दूसरे नर्सिंगहोम में टीम पहुंची लेकिन संचालक बंद कर भाग निकला था. इसके बाद टीमों ने अजीत नगर स्थित ज्योति हॉस्पिटल व आरके हड्डी अस्पताल को चेक किया. अनियमितता देख दोनों को नोटिस दिया गया. सीएमओ ने बताया कि अवैध अस्पतालों के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जाएगी.
आज भेजनी है अवैध अस्पतालों की रिपोर्ट निजी हॉस्पिटल में प्रसूता की मौत की खबर वायरल होने पर स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक ने सीएमओ को टीम गठित कर अवैध निजी अस्पतालों पर कार्रवाई का निर्देश दिया. उक्त कार्रवाई की रिपोर्ट तलब की है.


प्रतापगढ़ न्यूज़ डेस्क

Share this story