Samachar Nama
×

Patna  आदेश बाढ़-सुखाड़ को लेकर अलर्ट रहें तकनीकी विभाग के अधिकारी डीएम

आदेश

बिहार न्यूज़ डेस्क डीएम शशांक शुंभकर की अध्यक्षता में  राजगीर के कन्वेंशन सेंटर में आपदा प्रबंधन द्वारा संभावित बाढ़ एवं सुखाड़ की समीक्षा बैठक की गयी. बैठक में जिले के विधायकों ने भी भाग लिया. बाढ़-सुखाड़ को लेकर तकनीकि विभाग के अधिकारियों को अलर्ट रहने का निर्देश दिया गया.

डीएम ने कहा कि बारिश नहीं होने से जलस्तर नीचे जा रहा है. खराबियों को 24 घंटे में दूर करें. बैठक में विधायक हरिनारायण सिंह, डॉ. जितेंद्र कुमार, राकेश कुमार रौशन, कृष्णमुरारी शरण उर्फ प्रेम मुखिया, कौशल किशोर व ग्रामीण विकास विभाग के मंत्री के आप्त सचिव राजेंद्र प्रसाद ने भाग लिया. विधायकों ने जिले में पेयजल, हर खेत तक पानी की समस्या समाधान के लिए पदाधिकारियों को सुझाव दिए. जनप्रतिनिधियों द्वारा बताये गए सुझावों को नोट करते हुए काम करने का आदेश डीएम ने विभाग के अधिककारियों को दिया.

डीएम ने नल-जल योजना के तहत मोटर, स्टार्टर, स्टेबलाइजर समेत अन्य जरूरी सामग्रियों का स्टॉक रखने को कहा. तकनीकि खराबियों को 24 घंटे में दूर कर समस्या का समाधान करने का आदेश दिया गया. बैठक में डीडीसी वैभव श्रीवास्तव, आपदा प्रबंधन एडीएम शफीक, सभी एसडीओ, सभी तकनीकि विभागों के अधिकारी मौजूद थे.

बांस की जगह स्थाई पोल की करें व्यवस्था तालाब-पईन से अतिक्रमण हटाकर उड़ाही करने का आदेश लघु सिंचाई के कार्यपालक अभियंता को दिया गया. विद्युत विभाग के कार्यपालक अभियंता को कहा गया कि कृषि फीडर विद्युतीकरण योजना को धरातल पर उतारें. नंगे तार को बदलें. बांस की जगह स्थाई पोल लगाये. पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता को कहा गया कि पेयजल समस्या की निदान के लिए लक्ष्य के अनुरूप चापाकल लगाएं. खराब चापाकल की मरम्मत हर हाल में करें. विधायकों से भी अनुरोध किया गया कि सड़क, पुल-पुलिया, नाव की आवश्यकता का प्रस्ताव   तक भेज दे.

 

 

पटना  न्यूज़ डेस्क

Share this story

Tags