Samachar Nama
×

Patna  अंजू देवी बनीं जिला परिषद की अध्यक्ष, अंजू को 33 और प्रतिद्वंद्वी रेहाना को मिले सिर्फ पांच वोट

Bilaspur डिप्टी कमिश्नर पात्रे बने मुख्य नगर पालिका अधिकारी संघ के अध्यक्ष

बिहार न्यूज़ डेस्क  अंजू देवी जिला परिषद की नई अध्यक्ष चुनी गई हैं.  हिन्दी भवन में हुए चुनाव में उन्होंने प्रतिद्वंद्वी रेहाना परवीन को पराजित किया.

अंजू को कुल 33 वोट मिले. रेहाना को पांच जिला परिषद सदस्यों ने समर्थन दिया. कुल 44 सदस्यों में से 41 ही चुनाव प्रक्रिया में शामिल हुए. इनमें से दो स्तुति गुप्ता और शिव कुमार मतदान का बहिष्कार करते हुए सदन से बाहर निकल गए. वहीं तीन में से दो सदस्य संजय कुमार और संजू देवी वोटिंग में भाग लेने नहीं पहुंचे. एक सदस्य सविता देवी तय समय पर नहीं पहुंच पाने के कारण वोटिंग से वंचित रह गईं. अंजू देवी राजद समर्थित उम्मीदवार हैं.

डेढ़ घंटे तक चली वोटिंग प्रक्रिया के बाद दोपहर एक बजे डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने अंजू देवी को निर्वाचित घोषित किया. उन्होंने जीत का प्रमाण पत्र देते हुए पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. अंजू देवी पहले भी जिप अध्यक्ष रह चुकी हैं.

स्तुति बोलीं-मामला सुप्रीम कोर्ट में, इसलिए चुनाव में नहीं हुई शामिल: पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष स्तुति गुप्ता ने कहा कि उनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव गलत ढंग से लाया गया. कोरम पूरा नहीं होने के बावजूद उन्हें अध्यक्ष पद से हटा दिया गया था. अविश्वास प्रस्ताव में 50 प्रतिशत से एक ज्यादा सदस्य की सहमति के बाद ही उसे पारित माना जाता है, लेकिन उनके खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव में आधे से ज्यादा लोग वोटिंग से अनुपस्थित रहे थे. इस कारण उस बैठक का कोरम ही नहीं पूरा हुआ था. इसके खिलाफ वे सुप्रीम कोर्ट में अपील की हैं.  में उसपर सुनवाई होगी. इसलिए वे चुनाव प्रक्रिया में शामिल नहीं हुईं.

जिप सदस्यों के अपहरण का मामला जांच में मिला फर्जी

जिला परिषद के पांच सदस्यों के अपहरण का आरोप पुलिस जांच में फर्जी पाया गया. सचिवालय थाने की पुलिस ने  अपनी जांच रिपोर्ट वरीय अधिकारियों को भेज दी.

प्रभारी थानेदार राजेंद्र उरांव ने बताया कि जिला परिषद के कुछ सदस्यों को अगवा किए जाने की शिकायत मिली थी. जांच में अपहरण का मामला फर्जी निकला. इसकी रिपोर्ट वरीय अधिकारियों को भेज दी गई है.

दरअसल, जिला परिषद अध्यक्ष पद के लिए  उपचुनाव होना था. इसको लेकर मोकामा के जिला पार्षद कुमार नवनीत हिमांशु ने सचिवालय थाने में आवेदन देकर आरोप लगाए था कि विपक्षी खेमे के लोगों ने जिला पार्षद संजय चौधरी, कमल किशोर, विजय राम, रेखा देवी और रमेश चौधरी का अपहरण कर लिया है. अपहृत जिप सदस्यों को मसौढ़ी विधायक रेखा पासवान और राजद के प्रवक्ता व पूर्व विधायक शक्ति यादव के आवास पर रखा गया है. अपहरण की सूचना मिलते ही पुलिस जांच में जुट गई. संबंधित स्थानों पर जाकर जांच की तो वहां कोई पार्षद नहीं मिला.

 

 

पटना  न्यूज़ डेस्क

Share this story