Samachar Nama
×

Noida  यूपी बोर्ड परीक्षा में नकल करने पर रासुका लगेगी,मजिस्ट्रेट रहेंगे तैनात 
 

Noida  यूपी बोर्ड परीक्षा में नकल करने पर रासुका लगेगी,मजिस्ट्रेट रहेंगे तैनात 

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क   उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) परीक्षा में नकल करने वाले परीक्षार्थी पर रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून)की कार्रवाई होगी. प्रश्न पत्र रखने का कक्ष प्रधानाचार्य रूम से अलग बनाया जाएगा.
सामूहिक नकल मिलने पर तत्काल परीक्षा निरस्त के साथ परीक्षा केंद्र को डिबार कर दिया जाएगा. नकल करने पर रासुका की कार्रवाई के लिए महानिदेशक विजय किरण आनंद ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए डीआईओएस को आदेश दिए हैं. वहीं, माध्यमिक शिक्षा विभाग  केंद्र व्यवस्थापक और स्टेटिक मजिस्ट्रेट की सूची तैयार कर लेगा. इस संबंध में बैठक आयोजित होगी. जिले में 16 फरवरी से हाईस्कूल और इंटर की परीक्षा शुरू होने जा रही है. जिले में परीक्षा के लिए 57 केंद्र बनाए गए हैं. इस बार बोर्ड परीक्षा में 42,080 छात्र-छात्राएं शामिल होंगे. इस बार यदि परीक्षा के दौरान कोई परीक्षार्थी नकल करता पकड़ा जाता है, तो उसके खिलाफ रासुका की कार्रवाई की जाएगी.

गैंगस्टर एक्ट के तहत जिस केंद्र में छात्र नकल करता पाया जाता है, उसका कक्ष निरीक्षक या फिर व्यवस्थापक नकल करने वाले के खिलाफ शिकायत करेगा. प्रश्न पत्र की सुरक्षा में कोई भी चूक न हो, इसके लिए परीक्षा केंद्रों पर प्रधानाचार्य कक्ष से अलग स्ट्रांग रूम बनाया जाएगा. स्ट्रांग रूम में प्रश्न पत्र सुरक्षित रखे जाएंगे.
इस संबंध में महानिदेशक के आदेश मिले हैं. परीक्षा में, जो भी नकल करते पाया जाता है, उसके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत रासुका की कार्रवाई की जाएगी.
-डॉ. धर्मवीर सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक
इस बार स्टेटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती भी हर परीक्षा केंद्र पर रहेगी. परीक्षा केंद्रों पर नजर रखने के लिए कंट्रोल रूम जल्द तैयार किया जाएगा. शासन स्तर से इसका ट्रायल किसी दिन भी लिया जा सकता है. जिले का कंट्रोल रूम लखनऊ के कंट्रोल रूम से जुड़ेगा. परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों को किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं होने के लिए सख्त आदेश दिए गए हैं.
माध्यमिक शिक्षा विभाग ने केंद्रों का पुन भौतिक सत्यापन शुरू कर दिया है. टीम को सुनिश्चित करना होगा कि जो केंद्र निर्धारित हुए हैं, उनमें मूलभूत सुविधाओं का अभाव नहीं है. शौचालय, बिजली, फर्नीचर, चारदीवारी और सीसीटीवी कैमरे की उपलब्धता पर फोकस करते हुए रिपोर्ट देनी होगी. वहीं, जहां तैयारी अधूरी रही होगी, उसके लिए प्रधानाचार्य को आदेश देकर पूरा कराया जाएगा.


नोएडा न्यूज़ डेस्क

Share this story