Samachar Nama
×

Nainital कुमाऊं में डेंगू के साथ ही स्क्रब टाइफस का हमला, सुशीला तिवारी अस्पताल में 35 दिन में दो सौ संदिग्ध मरीज पहुंचे
 

डेंगू के मामले बढ़े    आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार, इंदौर में नवंबर के दूसरे सप्ताह में डेंगू के मामलों में वृद्धि देखी गई है, क्योंकि पहले सप्ताह में कम रिपोर्टिंग हुई है। मलेरिया कार्यालय के रिकॉर्ड से पता चलता है कि जिले में 7 से 14 नवंबर के बीच 94 डेंगू के मामले दर्ज किए गए थे, जो 1 नवंबर से 7 नवंबर के बीच 24 संक्रमणों की तुलना में अधिक थे। पहले सप्ताह में, अधिकारियों ने 1 नवंबर को किसी भी मामले की रिपोर्ट नहीं की। 3 और 4 छुट्टियों के कारण, कुल मामलों की संख्या में भारी कमी आई है। जिला मलेरिया अधिकारी दौलत पटेल ने कहा, 'छुट्टियों के दिन फील्ड टीमें काम नहीं करती हैं, इसलिए इन दिनों सैंपल कलेक्शन और सर्वे का काम नहीं किया जाता है. इंदौर नगर निगम (आईएमसी) के 85 वार्डों में औसतन आठ से दस हजार घरों में फॉगिंग और सर्वेक्षण के लिए मलेरिया अधिकारियों के साथ 12 टीमें हैं। पटेल ने आगे कहा,


उत्तराखंड न्यूज़ डेस्क, कुमाऊं में डेंगू के साथ स्क्रब टाइफस का हमला भी मरीजों पर हो रहा है. मंडल के सबसे बड़े सुशीला तिवारी अस्पताल (एसटीएच) में एक अगस्त से पांच सितंबर के बीच स्क्रब टाइफस के लक्षणों वाले 200 से ज्यादा मरीज पहुंचे हैं. इनमें से 37 मरीजों में स्क्रब टाइफस की पुष्टि भी हो चुकी है.

डेंगू की बात करें तो कुमाऊं में अब तक दो सौ से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं. हल्द्वानी में एक डेंगू पीड़ित महिला की मौत भी हो चुकी है. अब डेंगू के साथ स्क्रब टाइफस के बढ़ते मामले स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा रहे हैं. एसटीएच में वर्तमान में स्क्रब टाइफस के पांच मरीज भर्ती हैं, जबकि 15 संदिग्धों का भी इलाज चल रहा है.
मरीजों की पहचान मुश्किल डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया, स्क्रब टाइफस के मरीजों के लक्षण मिलते जुलते होते हैं. ऐसे में स्क्रब टाइफस के मरीजों को पहचान पाना मुश्किल होता है. मरीजों के सैंपल जांच के लिए राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी के माइक्रो बायोलॉजी विभाग में भेजे जा रहे हैं. रिपोर्ट 1-2 दिन बाद मिल रही है.
सभी जगह से आ रहे मरीज एसटीएच में स्क्रब टाइफस के मरीज पूरे कुमाऊं मंडल से पहुंच रहे हैं. पर्वतीय इलाकों के अलावा रुद्रपुर, बरेली, किच्छा आदि से भी मरीज एसटीएच पहुंचे हैं. जांच के बाद मरीजों का पूरा इलाज किया जा रहा है.

नैनीताल न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story