Samachar Nama
×

Munger खेतों की सिंचाई के समय भी नहर में नहीं रहता पानी

Nainital सिंचाई का पानी मिलना बंद गौलापार खतरे में पड़ी खेती

बिहार न्यूज़ डेस्क नहर है लेकिन यह इस समय सूखा पड़ा है. खरीफ की बुआई, धान की नर्सरी के लिए पानी की सख्त जरूरत है. लेकिन किसान सूखी नहर देखकर जिम्मेदारों को कोस रहे हैं. विभाग एवं जनप्रतिनिधि बार-बार झील में जमी गाद की सफाई की बात करते हैं पर इस पर ठोस पहल नहीं होने के कारण इलाके के किसान आज भी भगवान भरोसे हैं. किसानों का सवाल है कि इस नहर का क्या फायदा, यदि निजी साधनों से ही सिंचाई करनी पड़े?

यहां के किसानों ने  बताया कि खड़गपुर झील में पानी का स्टॉक रहता ही नहीं है जिस कारण करोड़ों खर्च के बाद भी नहर पानी नहीं दे रहा है. किसान अजय तांती, मुकेश यादव, बीरबल यादव ,महेंद्र यादव, मनोज मंडल, राम प्रीत सिंह आदि ने बताया कि हर हमेशा झील के मुख्य स्पिलवे से पानी का रिसाव सालों भर होता रहता और विभाग बेखबर है. हम किसानों ने इधर भी जाकर विभाग के अधिकारियों से गुहार लगाई कि स्पिलवे के मुख्य फाटक हो रहे पानी रिसाव को बचाया जाए ताकि हम किसानों को नहर में पानी मिल सके. सिंचाई विभाग के कार्यपालक अभियंता अनीश रंजन ने कहा कि झील में जमे में गाद की सफाई को लेकर वरीय अधिकारियों को अवगत कराया गया है. किसानों को सिंचाई के लिए परेशानी ना हो इसके लिए विभाग किसानों की समस्याओं को गंभीरता पूर्वक ले रही है.

कार्यपालक अधिकारी ने किया नाली का निरीक्षण

नगर पंचायत असरगंज अंतर्गत नारायणपुर मोड़ के पास वार्ड संख्या 12 में एक निजी व्यक्ति के द्वारा कराए जा रहे नाली निर्माण का निरीक्षण कार्यपालक अधिकारी विनय कुमार ने किया. उन्होंने बताया कि नगर पंचायत के द्वारा नाली निर्माण नहीं कराया जा रहा है. पूर्व से पंचायत के द्वारा निर्मित नाली की ऊंचाई निजी व्यक्ति के द्वारा बढ़ाई गई है एवं टूटे हुए ढक्कन की मरम्मत की गई है. उन्होंने पूर्व के नाली के स्वरूप में छेड़-छाड़ नहीं करने का निर्देश दिया.

 

मुंगेर न्यूज़ डेस्क

Share this story

Tags