Samachar Nama
×

Motihari स्पष्ट जख्म रिपोर्ट न देने वाले डॉक्टर पर कार्रवाई

Lucknow  जलकल की जमीन पर एक और दावा, जल्दी बड़ी कार्रवाई होगी

बिहार न्यूज़ डेस्क इंज्यूरी (जख्म) रिपोर्ट को लेकर डाक्टरों की मनमानी सिविल सर्जन के लिए भारी पड़ा. डॉक्टरों के द्वारा कोर्ट के आदेश की अनसुनी करने पर जिला जज अनामिका टी ने सिविल सर्जन डॉ नरेश कुमार भीमसरिया को तलब किया था.  सुबह सिविल सर्जन जिला जज की अदालत में पेश हुए.

जमानत अर्जी पर सुनवाई के दौरान वकीलों ने अलग-अलग मामलों में इंजरी(जख्म)रिपोर्ट को लेकर चिकित्सकों की मनमानी पर सवाल उठाया. कई मामलों में अधिवक्ताओं ने बार-बार कोर्ट के निर्देश के बावजूद जख्म प्रतिवेदन प्राप्त नहीं होने का मामला उठाया.

कुछ मामलों में वकीलों ने डाक्टर द्वारा दिए गए इंजरी रिपोर्ट पर ही सवाल उठा दिया. लगभग आधे दर्जन मामलों में इंजरी रिपोर्ट को लेकर बहस हुई. कई मामलों में इंजरी रिपोर्ट पुलिस को हस्तगत नहीं कराया गया था. कुछ मामलों में डॉक्टरों ने जो इंजरी रिपोर्ट दिया था वह स्पष्ट नहीं था. कोर्ट ने डॉक्टरों की रवैया से सिविल सर्जन को अवगत कराते हुए सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया. जिला जज ने इंजरी रिपोर्ट तैयार करने के लिए डाक्टर को प्रशिक्षण दिलाने का आदेश दिया. स्पष्ट इंजरी रिपोर्ट नहीं देने वाले डाक्टर पर कार्रवाई करने का भी निर्देश दिए. इंजरी रिपोर्ट पर कोर्ट के सख्त रवैया से स्वास्थ्य महकमा में खलबली मच गई है.

जिला जज अनामिका टी की अदालत में सिविल सर्जन की पेशी हुई. अस्पष्ट इंजरी रिपोर्ट देने वाले चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश दिया है. इंजरी रिपोर्ट तैयार करने के लिए डाक्टरों को प्रशिक्षण दिलाने का भी निर्देश दिया है.

-अजीत सिन्हा, एपीपी सह प्रभारी पीपी, मधुबनी.

 

मोतिहारी  न्यूज़ डेस्क

Share this story