Samachar Nama
×

Mathura  पांच दर्जन से अधिक फीडरों में सर्वाधिक बिजली चोरी चिह्नित

Moradabad आवास विकास बिजलीघर में शटडाउन, पांच घंटे बिजली गुल

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क   शहरी एवं देहात मंडल क्षेत्र में पांच दर्जन से अधिक फीडर हाईलाइन लॉस फीडर चिह्नित किए गए हैं. इनमें लाइन लॉस 20 प्रतिशत से लेकर 84 प्रतिशत तक है. लगातार कार्रवाई के बाद भी यहां पर खास सुधार नहीं हो पा रहा है. अब फिर से गड़बड़ी करने वाले उपभोक्ताओं पर शिकंजा कसने की बिजली निगम ने तैयारी की है.

शासन के निर्देश पर हाईलाइन लॉस फीडर चिह्नित किए जा रहे हैं, जिससे उस क्षेत्र में सख्ती कर लाइन लॉस कम किया जा सके. विभागीय आंकड़ों के अनुसार देहात के जानू रूरल, मेहराना, नंदगांव देहात, बसौती, पैंठा, बछगांव, सतोहा, रसूलपुर, उस्फार, कोसी के बैंक कॉलोनी, कोसी टाउन, बुखरारी, पैगांव, रनवारी, आझई, अगरयाला, बहेटा, धनगांव, रेलवे बाद, एटीवी, दीन दयाल धाम-3 फरह, सेरसा, रैपुरा जाट, बलदेव, कचनऊ रूरल, कटेला रूरल, कारव, पचावर-2, यमुना ब्रिज, नगला भामा, सोनई, राया, डांगौली, सुरीर, ईखू, मानागढ़ी, छिनपराई, नावली फीडर पर लाइन लॉस अधिक है. लाइन लॉस 20 प्रतिशत से लेकर 84 प्रतिशत तक है. वहीं शहरी मंडल के म्यूजियम, जवाहर हाट-2, भरतपुर गेट, टेकमेन सिटी, ज्योति नगर, भगवान नगर, राल, श्रीराम फाइवर, तेहरा, फीडर नंबर आठ पागल बाबा, मुखर्जी पार्क, चैतन्य विहार, दरेसी, गुरूनानक नगर, गोवर्धन रोड, बाईपास, शिवाजी नगर, पंचवटी, गांधी पार्क, डीग गेट, विकास नगर फीडर पर लाइन लॉस 20 प्रतिशत से 72 प्रतिशत तक है.

विभाग को हो रहा करोड़ों रुपये का नुकसान लाइन लॉस वाले फीडर क्षेत्रों में बिजली विभाग को प्रति माह करोड़ों का नुकसान हो रहा है. ना तो इन क्षेत्रों में चोरी रूक पा रही है और ना ही अधिक राजस्व वसूली हो पा रही है. एसई शहरी सुरेश चन्द्र रावत, एसई प्रभाकर पांडेय एवं एसई विजय मोहन खेड़ा के अनुसार पहले से लगातार सुधार हो रहा है. राजस्व वसूली बढ़ाते हुए लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है कि वह मीटर से ही बिजली का उपयोग करें.

 

 

मथुरा न्यूज़ डेस्क

Share this story

Tags