Samachar Nama
×

Katihar नियम विरुद्ध हो रहा नाव परिचालन, होगी कार्रवाई

Lucknow  जलकल की जमीन पर एक और दावा, जल्दी बड़ी कार्रवाई होगी

बिहार न्यूज़ डेस्क  बाढ़ के दौरान बिना लाइसेंस के नदियों व अन्य जलाशयों में नाव नहीं चलेंगे. यदि कोई भी नाविक अपने नाव का बिना निबंधन का नाव का परिचालन करते हैं तो उनके नाव को जब्त कर लिया जायेगा. नाव पर ओवरलोडिंग किसी भी परिस्थिति में बर्दास्त नहीं किया जायेगा. हालांकि सनद रहे कि जिले में अधिकांश घाट और नदी किनारे नाव का परिचालन नियमों के ताक पर रखकर किया जाता है. इसकी सूचना पर परिवहन विभाग द्वारा सख्ती बरती जा रही है.

डीटीओ ने बताया कि बाढ़ के समय या अन्य दिनो नाव का परिचालन करने वाले नाव के संचालकों को नाविकों और सभी यात्रियों को लाइफ जैकेट देना होगा. नाव पर बैठने वाले यात्रियों की संख्या व क्षमता, भार की क्षमता, नाव पर निबंधन संख्या, सरकारी नाव पर झंडा, नाव का कितना हिस्सा पानी में और कितना हिस्सा पानी के ऊपर रहना चाहिए, इससे संबंधित लोडलाइन रेखांकित करना होगा. इससे संबंधित सभी प्रकार की लिखित जानकारी घाट पर और नाव पर रहनी चाहिए. ऐसा न हीं करने पर सख्त कार्रवाई

मापन के साथ करना होगा लोडलाइन इंगित लोड लाइन चिह्नित किया जाना जरूरी नाव अधिनियम के के अनुसार गहराई को रेखांकित करने के लिए प्रत्येक नाव में काले पृष्टिभूमि में सफेद से पंट किया हुआ  सेमी लंबा, 1 सेमी चौड़ा और 2.5सेमी खुदा या जड़ा स्प्ष्ट चिह्न द्वारा लोड लाइन इंगित रहेगा. लोडलाइन नाव सर्वेक्षण के समक्ष निबंधन के समय वाहन स्वामी द्वारा चिह्नित किया जायेगा. माल एवं यात्री ढ़ोने वाले नाव अच्छी हालत में होना चाहिए. नाव में जमा पानी को पंप करने, उलीचने अथवना रति से निष्कारण के लिए पर्याप्त उपकरण और सुरक्षित नौकायान के लिए कारगार, जमीनी टैक्ल एंकरिंग तथा अन्य उपकरण और आवश्यक प्रकाश के माध्यम उपलब्ध होना चाहिए.

मात्र 50 रुपये में नाविक करा सकते हैं नाव का निबंधन बाढ़ या अन्य दिनों में नदियों में नाव का परिचालन कराने के लिए नाव का निबंधन काफी जरूरी है. बिना निबंधन के नाव का परिचालन करना न केवल गैर कानूनी होता है बल्कि नाव पर यात्रा कर रहे आम यात्रियों के लिए जानलेवा भी होता है. ऐसे में जरूरी है कि जिला परिवहन पदाधिकारी कार्यालय सें संपर्क कर नाव का निबंधन मात्र 50 रुपये में करा सकते हैं.

 

कटिहार न्यूज़ डेस्क

Share this story

Tags