Samachar Nama
×

Kanpur  महिला डॉक्टर के दीवाने ने 26 पर्चे बनवाए, धरा गया, हैलट में स्टाफ ने पिटाई कर पुलिस को सौंपा, एफआईआर
 

Kanpur  महिला डॉक्टर के दीवाने ने 26 पर्चे बनवाए, धरा गया, हैलट में स्टाफ ने पिटाई कर पुलिस को सौंपा, एफआईआर


उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  हैलट की महिला डॉक्टर को देख मरीज इस कदर मोहित हो गया कि उसे देखने के लिए 26 पर्चे बनवा डाले. ओपीडी में एक दिन महिला डॉक्टर न दिखाई देने से वह सहयोगी स्टाफ से पूछताछ कर बैठा.  वह फिर पर्चा लेकर ओपीडी पहुंचा, जहां स्टाफ ने धर-दबोचा. पूछताछ में उसने अपना नाम जाजमऊ निवासी तौहीद अली बताया. डरी-सहमी डॉक्टर ने स्वरूप नगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई है.

जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज में इंटर्न कर रही डॉक्टर नर्सिंग हॉस्टल में रहती है. कॉलेज प्रांगण और हैलट ओपीडी के दौरान तौहीद उसका दीवाना हो गया. ओपीडी में अपना इलाज कराने के बहाने चार हफ्ते में उसने दो दर्जन से ज्यादा पर्चे बनवाए.
तौहीद केवल उसी ओपीडी के रूम के पर्चे बनाता था, जहां उस डॉक्टर की ड्यूटी होती थी. 14 तारीख को वह फिर पर्चा बनवाकर ओपीडी पहुंचा और डॉक्टर को ढूंढने लगा. वह उस दिन ड्यूटी पर नहीं थीं. कुछ दिन और डाक्टर नहीं दिखीं तो सहयोगी स्टाफ से पूछने लगा. स्टाफ को उसकी गतिविधियों पर संदेह हुआ. डॉक्टर ने मामले की शिकायत मेडिकल कॉलेज प्रबंधन से की. फुटेज में भी वह महिला डॉक्टर को घूरते मिला.  तौहीद फिर पर्चा बनवाकर ओपीडी पहुंचा और डॉक्टर के रूम में जाने लगा. उसे देखते ही स्टाफ ने दबोच लिया. पिटाई के बाद पुलिस को सौंप दिया गया. पूछताछ में पता चला कि मूलरूप से बलिया निवासी तौहीद (32) जाजमऊ में रहता है. उसने बताया कि कुछ दिनों पहले वह हैलट अस्पताल की ओपीडी में आया था. इस दौरान वहां उसने इंटर्न डॉक्टर को देखा. पूछताछ में तौहीद ने स्वीकार किया कि वह डॉक्टर पर मोहित हो गया था इसलिए बिना बीमारी के ही ओपीडी में पर्चे बनवाकर पहुंच जाता था. उसने बताया कि डॉक्टर रेगुलर ओपीडी में नहीं दिखी तो उसने सर्जरी, मेडिसिन समेत कई ओपीडी के पर्चे बनवा लिये. दूसरी ओपीडी में खुद को दिखाने के बहाने से पहुंचता रहा. थाना प्रभारी के मुताबिक आरोपित पर जांच की जा रही है. महिला डॉक्टर और हॉस्टल की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जा रहा है.


कानपूर न्यूज़ डेस्क

Share this story