×

JAIPUR पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री को तौलने के लिए इकट्‌ठा किया था 67.8 किग्रा सोना, CGST को सौंपा गया

KK

राजस्थान न्यूज़ डेस्क !!! सोने को अभी तक 56.863 किलोग्राम माना जा रहा था, वह 67.8 किलोग्राम निकला। 64.6 किलोग्राम सोना सीजीएसटी अधिकारियों के हवाले कर दिया गया, जबकि 3.2 किलोग्राम सोना की सुपुर्दगी में अभी की जानी बाकी है। अदालत के प्रभारी न्यायाधीश अपने साथ सीजीएसटी के अधिकारियों को लेकर कलक्ट्रेट में जमा सोने को लेने सोमवार दोपहर कलक्ट्रेट पहुंचे थे लेकिन सोने की सुपुर्दगी में कई घंटे लग गए। रात साढ़े दस बजे बाद ये लोग कलक्ट्रेट के जमा खाने से बाहर निकले तब पता चला कि पूर्व प्रधानमंत्री को तौलने के दिया सोना 56.863 किलोग्राम नहीं बल्कि 67.8 किलोग्राम था। जिसमें से 64.6 किलोग्राम सोना सीजीएसटी अधिकारी अपनी सुपुर्दगी में ले चुके हैं। जबकि तीन किलो दो सौ ग्राम सोना अभी उन्हें नहीं मिल पाया है। इसके पीछे जो कारण बताया जा रहा है यह है कि तीन किलो सोने का एक बिस्किट पर नंबर अलग थे।

कोर्ट की सूची में एम—2560 लिखा है।पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के लिए छोटी सादड़ी के कारोबारी को जमा कराया सोना प्रभारी न्यायाधीश की मौजूदगी में सेंट्रल गुड्स एंड सर्विस टैक्स के अधिकारियों को सौंप दिया गया। यह सोना उदयपुर जिला कलक्ट्रेट के मालखाने में जमा था। खबरों से प्राप्त जानकर के अनुसार बताया जा रहा है कि,अदालत ने अपने फैसले में जमा संपूर्ण सोना सीजीएसटी के हवाले करने को कहा था। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का वजन 56.863 किलोग्राम था लेकिन छोटी सादड़ी के कारोबारी ने इससे अधिक सोना तौल के लिए जमा कराया था। किन्तु इसका खुलासा अदालत के पीठासीन अधिकारी की मौजूदगी में जब सीजीएसटी के अधिकारी कलक्ट्रेट के मालखाने पहुंचे तब हुआ। यह टीम दोपहर 12.39 बजे मालखाने में घुसे और रात साढ़े दस बजे बाहर निकले।

Share this story