Samachar Nama
×

Indore उद्घाटन के इंतजार में शहीद पार्क ने खो दी अपनी चमक, 4.50 करोड़ की लागत से तैयार किया गया पार्क होने लगा दुर्दशा का शिकार
 

Indore उद्घाटन के इंतजार में शहीद पार्क ने खो दी अपनी चमक, 4.50 करोड़ की लागत से तैयार किया गया पार्क होने लगा दुर्दशा का शिकार

मध्यप्रदेश न्यूज़ डेस्क, पूरे देश में सरकार द्वारा आजादी का अमृत महोत्सव मनाया गया जिसके तहत अलग-अलग आयोजन भी किए गए. इसी तरह देश के सबसे स्वच्छ शहर इंदौर में भी अमृत महोत्सव के तहत कई आयोजन किए गए जो अभी भी चल रहे हैं. वहीं जनप्रतिनिधि और प्रशासनिक अधिकारी इस बात को भूल रहे हैं कि चार साल से उद्घाटन के इंतजार में तैयार शहीद पार्क आज अनदेखी का शिकार है. बता दें कि इस पार्क का 2018 में शुभारंभ किया जाना था, लेकिन शासन और प्रशासन की अनदेखी की वजह से पार्क आज भी बंद पड़ा है.
दरअसल, इंदौर में शहीदों के सम्मान में पूर्वी रिंग रोड पर शहीद पार्क का निर्माण किया गया है, जिसका मुख्य द्वार दिल्ली के इंडिया गेट की हू-ब-हू नजर आता है. हालांकि यह बात और है कि साल 2018 के स्वतंत्रता दिवस पर उसका शुभारंभ किया जाना था, लेकिन आज भी शहीदों के सम्मान में बनाए गए पार्क को उद्घाटन का इंतजार है. इंदौर विकास प्राधिकरण और सरकार द्वारा युवाओं को शहीदों के प्रति संवेदनशील बनाने के उद्देश्य से शहर के पूर्वी रिंग रोड पर शहीद पार्क का निर्माण किया गया था लेकिन बनकर तैयार होने के 4 साल बीत जाने पर भी उद्घाटन कार्यक्रम की वजह से अब तक शहीद स्मारक पार्क शुरू नहीं किया जा सका है.
स्मारक में लगाई है 100 शहीदों की जीवनी
करीब 3 एकड़ भूमि पर निर्मित किए गए शहीद पार्क की विशेषता यह है कि इसका मुख्य गेट को दिल्ली के इंडिया गेट की तरह बनाया गया है. वहीं इसके मध्य में अमर ज्योति, बंदूक और टोपी की प्रतिकृति लगाई गई है. पार्क के अंदर स्थित शहीद स्मारक में 100 शहीदों की जीवनी लगाई गई है ताकि युवा उनसे प्रेरणा ले सके. शहीदों की जीवनी और फोटो फ्रेम पर करीब 11 लाख रुपए भी खर्च किए जा चुके हैं. इतना ही नहीं शहीद पार्क में बच्चों के झूले और दर्शनीय स्थल के साथ ही सांस्कृतिक आयोजनों के लिए ओपन ऑडिटोरियम का भी निर्माण किया गया है.
इसे पर्यटन स्थल की तरह विकसित किया गया है. फिलहाल इंदौरवासियों सहित भूतपूर्व सैनिकों को भी इस पार्क के खुलने का इंतजार है.

इंदौर न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story