Samachar Nama
×

Gurgaon मकान, दुकान के लिए कब्जा प्रमाणपत्र जरूरी, बाहरी शुल्क माफ 
 

Gurgaon मकान, दुकान के लिए कब्जा प्रमाणपत्र जरूरी, बाहरी शुल्क माफ 

हरियाणा न्यूज़ डेस्क, सेक्टरों में मकान और दुकानों का कब्जा प्रमाणपत्र (ओसी) अनिवार्य कर दिया गया है. बुधवार को शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) ने यह आदेश दिया.
सेक्टरों में सभी रिहायशी, व्यावसायिक, संस्थागत और ग्रुप हाउसिंग सोसाइटियों के निर्माण के बाद कब्जा प्रमाणपत्र लेना जरूरी कर दिया गया है. भूखंड मालिको को अपने इमारत का कब्जा प्रमाण पत्र लेने के लिए 31 दिसंबर 2022 तक स्थानीय प्रशासक के कार्यालय में आवेदन करना होगा. इसके बाद ही स्थानीय प्रशासक संबंधित भूखंड मालिक की ओर से बकाया राशि का भुगतान करने के बाद ही कब्जा प्रमाण पत्र जारी करेंगे. इसके लिए प्रशासक और संपदा अधिकारी स्वयं मकान का मौका मुआयना करके रिपोर्ट तैयार करेंगे.
एचएसवीपी के मुख्य प्रशासक अजीत बालाजी जोशी ने जारी आदेश में कहा कि नए नियम के मुताबिक सेक्टर के भूखंड मालिक अपने रिहायशी मकान के लिए आवेदन करता है तो उसे 25 हजार रुपये, व्यावसायिक भूखंड के लिए 50 हजार रुपये और संस्थागत तथा ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी की इमारत के लिए एक लाख रुपये की राशि का भुगतान कब्जा प्रमाण पत्र लेने के लिए करना पड़ेगा. यह नियम 11 सितंबर 1987 के बाद के मकानों के लिए लागू होगी.
ओसी सभी के लिए जरूरी

अभी तक सेक्टरों में 15 प्रतिशत ऐसे भूखंड है जिसका अभी तक ओसी नहीं है. सबसे अधिक दुकानों के अलावा और ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी है. अब सभी को ओसी के लिए जरूरी कर दिया गया है.
नए नियम के अनुसार अब सेक्टरों में भूखंड मालिक को यह प्रमाण देना होगा कि उसने मकान 2019 से पहले बनाया था या इसके बाद. यदि वर्ष 2019 से पहले निर्माण किया था तो इसका कंप्लीशन-2019 की नीति के तहत दिया जाएगा. बाहरी शुल्क यानी एक्सटेंशन फीस का निर्धारण भी मकान मालिक द्वारा उपलब्ध कराए प्रमाण के आधार पर होगा. निर्माण का प्रमाण देने पर उस पर लगी एक्सटेंशन फीस को माफ कर दिया जाएगा.

गुडगाँव न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story