Samachar Nama
×

Gaziabad कस्तूरबा गांधी विद्यालय में 12वीं तक दाखिले शुरू

विद्यालय

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  लोनी स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय बनकर तैयार हो गया है. यहां 12वीं तक दाखिले भी शुरू हो गए हैं. इससे क्षेत्र तथा आस-पास रहने वाली आर्थिक रुप से पिछड़ी बेटियों को काफी राहत मिलेगी. स्कूल में इस बार आठवीं पास करने वाली छात्राओं को आगे की पढ़ाई के लिए किसी दूसरे स्कूल नहीं जाना पड़ेगा.

लोनी स्थित कस्तूरबा गांधी विद्यालय 12वीं तक शुरू होने वाला जिले का पहला बालिका स्कूल बन गया है. इसके अलावा दो स्कूलों में निर्माण कार्य जारी है. इसमें से एक का काम कुछ दिनों में पूरा हो जाएगा. जबकि, एक स्कूल का निर्माण अगले वर्ष तक ही पूरा हो पाएगा. इसके बाद इन स्कूलों में भी 12वीं तक पढ़ाई शुरू हो जाएगी. फिलहाल लोनी के स्कूल में नौंवी से 12वीं तक की दाखिला प्रकिया शुरु हो गई है.

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में पहले छठी से लेकर आठवीं तक ही पढ़ाई होती थी. यहां दाखिला लेने वाली छात्राओं को रहने, खाने-पीने और पुस्तकालय समेत तमाम सुविधाएं निशुल्क दी जाती हैं. ऐसे में एक बार दाखिला हो जाने के बाद अभिभावकों को बेटियों की पढ़ाई की चिंता भी कम रहती है, क्योंकि छात्राओं का सारा खर्च शासन द्वारा वहन किया जाता है. लेकिन, बालिका विद्यालय आठवीं तक होने के चलते यहां पढ़ने वाली छात्राओं को आगे की पढ़ाई के लिए दूसरे स्कूल में दाखिला लेने पड़ता था. इसके कारण उन्हें काफी परेशान होती थी. वहीं आर्थिक समस्या के चलते और घर से दूर स्कूल होने के कारण कई छात्राएं पढ़ाई बीच में ही छोड़ देती थीं.

योजनाओं का लाभ भी आसानी से मिल सकेगा छात्राओं की समस्या को दूर करने के लिए शिक्षा विभाग की ओर से कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय में 12 वीं तक की कक्षाए शुरू करने का फैसला लिया . इससे छात्राओं की आठवीं के बाद दाखिले को लेकर होने वाली परेशानी खत्म हो गई है. अब वे यहां एक बार दाखिला हो जाने के बाद सीधा 12वीं तक बिना बाधा के पढ़ाई कर सकेंगी. इस दौरान उन्हें शासन से मिलने वाली योजनाओं का लाभ भी आसानी से मिल सकेगा.

चार करोड़ से हुआ निर्माण

स्कूल में 12वीं तक की कक्षाए शुरू करने के लिए में कुल 4.11 करोड़ रुपये बजट खर्च किया गया है. पहले जहां स्कूल में केवल छठी, सातवीं और आठवीं तक की पढ़ाई के लिए एकेडमिक ब्लॉक और हॉस्टल था. वहीं अब नौवीं से 12वीं तक में इस वर्ष दाखिला लेने वाली छात्राओं के लिए एक नया एकेडमिक ब्लॉक और हॉस्टल बनाया गया है. अब छठी से आठवीं और नौवीं से 12वीं तक के लिए 100-100 बेड की हॉस्टल सुविधा उपलब्ध है.

लोनी के कस्तूरबा गांधी विद्यालय में दाखिला प्रक्रिया शुरु हो गई है. छठी से आठवीं तक पहले ही 100 छात्राएं पढ़ रही हैं. अब नौवीं से 12वीं तक 100 और छात्राओं को दाखिला दिया जाएगा. दूसरे स्कूलों में भी निर्माण कार्य तेजी से कराया जा रहा है.

- ओपी यादव, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, गाजियाबाद

आचार संहिता के चलते देरी से शुरू हुए दाखिले

जिला समन्वयक बालिका कुणाल मुद्गल ने बताया कि निर्माण लगभग ढाई महीना पहले ही पूरा हो गया था, मगर आचार संहिता के चलते दाखिले शुरू नहीं हो पाए थे. अब दाखिले शुरु हो गए हैं जो  तक चलेंगे. स्कूल में अतिरिक्त एकेडमिक ब्लॉक और हॉस्टल का निर्माण पूरा होने के बाद निर्माण एजेंसी ने पहले ही स्कूल प्रबंधन को स्कूल हैंडऑवर कर दिया है.

तीन स्कूलों का निर्माण अधूरा

जिले में लोनी, मकीमपुर, मुरादनगर और रजापुर में कुल चार कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय हैं. इन सभी स्कूलों को 12वीं तक करने के लिए 2022 में योजना लाई गई थी. योजना के मुताबिक 2023 में निर्माण हो जाना था, मगर इसे बढ़ाकर 2024 कर दिया गया. मगर अभी भी सिर्फ एक ही स्कूल बन पाया है. बीएसए ओपी यादव ने बताया कि मुकीमपुर के विद्यालय में निर्माण अंतिम पड़ाव में है. रजापुर और मुरादनगर विद्यालय में निर्माण पूरा होने में समय लगेगा.

 

 

गाजियाबाद न्यूज़ डेस्क

Share this story

Tags