Samachar Nama
×

Gaya  सौ बीघा से अधिक में घुसा नहर का पानी, टिकारी के घंघौला के किसान भारी परेशानी में, नहर के पानी से रवि फसल को हुआ बड़ा नुकसान
 

Gaya  सौ बीघा से अधिक में घुसा नहर का पानी, टिकारी के घंघौला के किसान भारी परेशानी में, नहर के पानी से रवि फसल को हुआ बड़ा नुकसान


बिहार न्यूज़ डेस्क बेनीपुर उप वितरणी में पानी का बहाव अधिक होने की वजह से पानी खेतों में घुस गया. खेतें जलमग्न होने की वजह से रबी की फसल को नुकसान होने का दावा किसानों ने किया है.
घंघैला के किसान कौशल शर्मा ने बताया कि  की रात से खेतों में पानी घुसने लगा था. सुबह होने तक सौ बिगहा खेत में पानी पहुंच गया. खेत के साथ-साथ खलिहान में पानी पहुंच गया. किसानों ने नहर में पानी का बहाव अधिक होने से खेतों में पानी भरने की जानकारी प्रशासन को दी थी. किसानों ने कहा है कि खेतों में लगी रबी फसल यथा- चना, मसुर, खेसारी और गेहूं की फसल को नुकसान हुआ है. गांव के किसान लक्ष्मण शर्मा, दीनानाथ शर्मा, मंटू शर्मा, अनिल वर्मा, सुनील वर्मा, चुटुस शर्मा समेत दर्जनों किसान परेशान हैं.
नहर अधूरा रहने से आई समस्या

सोन नहर से निकली रतनी वितरण की शाखा बेनीपुर नहर है. 2018 में बेनीपुर उप वितरणी की खुदाई का काम शुरू हुआ. करोड़ों की लागत की इस योजना के तहत कुल दस किलोमीटर की खुदाई करनी थी. जीरो आरडी (संडा) से 32.70 आरडी यानी बेनीपुर तक खुदाई होनी है. मुआवजा और जमीन के मामले को लेकर अब तक करीब 50 फीसदी नहर की खुदाई हुई है. संडा से घंघैला तक (0 से 18.26 आरडी) तक खुदाई के बाद से काम बंद है. योजना के तहत नहर को सिनाने मुख्य नहर में मिलाने की योजना है लेकिन योजना में पेंच फंसने की वजह से खुदाई का काम पूरा नहीं हो सका है. ऐसे में जब बेनीपुर उप वितरणी में पानी छोड़ा गया तो यह घंघैला गांव तक पहुंचकर खेतों में पहुंचने लगा. पूरी रात खेत में पानी का बहाव चलता रहा. घंटों पानी खेतों तक पहुंचने से खेत जलमग्न हो गई है. अब किसान काफी परेशान दिख रहे हैं.


गया न्यूज़ डेस्क 
 

Share this story