Samachar Nama
×

Durg भैरव जयंती महोत्सव: बाबा के जयकारे से गूंजायमान हो रहा मंदिर परिसर मनोकामना की पूर्ति के लिए रूद्र महायज्ञ में आहुतियां डालने पहुंच रहे हजारों भक्त
 

Durg भैरव जयंती महोत्सव: बाबा के जयकारे से गूंजायमान हो रहा मंदिर परिसर मनोकामना की पूर्ति के लिए रूद्र महायज्ञ में आहुतियां डालने पहुंच रहे हजारों भक्त

छत्तीसगढ़ न्यूज़ डेस्क,  श्री सिद्ध तंत्र पीठ भैरव मंदिर रतनपुर में नौ दिवसीय श्री भैरव जन्म महोत्सव का आयोजन किया गया है. मनोकामना की पूर्ति के प्रतिदिन सैकड़ों भक्त रूद्र महायज्ञ में आहुतियां डालने पहुंच रहे हैं. मंदिर परिसर में वैदिक ब्राह्मणों द्वारा मंत्रों का सस्वर पाठ किया जा रहा है. भैरव बाबा के जयकारे से मंदिर परिसर गूंजायमान हो रहा.

भैरव जयंती से भैरव बाबा का दर्शन पूजन करने के लिए भक्तों का रेला लगा हुआ है. तंत्र क्रिया से जुड़े तांत्रिक जो भैरव जी को अपना गुरु मानते हैं वे भगवान भैरव जी का आशीर्वाद लेने मंदिर पहुंचे रहे हैँ. वहीं यज्ञ के यजमानों द्वारा प्रदेश की खुशहाली, जनकल्याण एवं मंगल कामना के लिए विशेष आहुतियां डाली जा रही हैं. यज्ञ के धुएं से सकारात्मक शक्तियां प्रवेश करती हैं और वातावरण शुद्ध होता है.
तीन लाख आहुतियां दी जा चुकी हैं: अवस्थी
भैरव मंदिर के मुख्य पुजारी पः जागेश्वर अवस्थी ने बताया कि श्री रुद्र महायज्ञ में दो लाख चालीस हजार आहुतियां दी जाती है . दशांश हवन करके दो लाख चौंसठ हजार रुद्र महायज्ञ में आहुति अग्नि देव को समर्पित किए जाते हैं . श्री सिद्ध तंत्र पीठ भैरव मंदिर में भैरव जयंती के उपलक्ष्य में रुद्र महायज्ञ चल रहा है जिसमें बुधवार तक तीन लाख आहुतियां दी जा चुकी है ं. जितना अधिक आहुति भगवान को दी जाए उतना ही अच्छा रहता है. यज्ञ के धुएं से सकारात्मक शक्तियां प्रवेश करती हैं और वातावरण शुद्ध होता है तथा मन को शांति मिलती है. यज्ञ में दी जाने वाली आहुति भगवान का भोजन होता है. यज्ञ में तिल, जौ, मधु, चावल एवं हवन औषधि शुद्ध घी से भगवान प्रसन्न होते हैं और सभी भक्तों की मनोकामना पूर्ण करते हैं . यज्ञ को संपन्न करने 15 ब्राम्हण वैदिक मंत्रोचार, पाठ व हवन करने में लगे हैं. यज्ञ में आचार्य पंडित गिरधारी लाल पांडेय, दिलीप दुबे राजेंद्र दुबे, महेश्वर पांडेय, कान्हा तिवारी, अविनाश मिश्रा, दीपक अवस्थी, रामकिशोर पांडेय, रामगोपाल दुबे, अश्वनी तिवारी, गौरी शंकर रिषभ पांडेय अनुराग दुबे आदि लगे हुए हैं. भोजन भंडार की व्यवस्था देख रेख में रवि तंबोली जुटे हुए हैं. पं. जागेश्वर अवस्थी ने बताया कि जनवरी माह में ब्राह्मण बटुकों का नि:शुल्क उपनयन संस्कार एवं नि:शुल्क सामूहिक विवाह कराए जाएंगे.

दुर्ग न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story