Samachar Nama
×

Darbhanga लाभ चलंत लोक अदालत में आये 179 मामलों का हुआ निष्पादन

दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण अधिनियम (मकोका) के तहत दर्ज मामले में गैंगस्टर दीपक पहल उर्फ बॉक्सर के खिलाफ दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की चार्जशीट पर संज्ञान लिया है।  पटियाला हाउस कोर्ट के विशेष न्यायाधीश शैलेंद्र मलिक ने मामले की अगली सुनवाई 9 अगस्त को तय की है। अदालत ने 11 जुलाई को बॉक्सर के खिलाफ मामले में जांच की अवधि 90 दिनों से अधिक बढ़ाने से इनकार कर दिया था। बॉक्सर को 9 दिसंबर 2020 को अपराधी घोषित किया गया था।  बॉक्सर को मैक्सिको से निर्वासन के बाद 15 अप्रैल को गिरफ्तार किया गया था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की पांच सदस्यीय टीम एफबीआई की मदद से मैक्सिको में गैंगस्टर को पकड़ने के बाद भारत लेकर आई थी। टीम मैक्सिको से बॉक्सर को लेकर दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट पर उतरी थी।    पुलिस ने कहा कि हरियाणा के सोनीपत का रहने वाला बॉक्सर हत्या, हत्या के प्रयास और मकोका सहित 10 आपराधिक मामलों में वांछित था। रोहिणी कोर्ट में अपने प्रतिद्वंद्वियों द्वारा गोगी की हत्या के बाद बॉक्सर जितेंद्र गोगी गिरोह को भी संभाल रहा था। वह लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के सदस्यों के भी संपर्क में था।  पुलिस ने कहा कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल को बॉक्सर के स्थान के बारे में सूचना मिली थी इसके बाद एक ऑपरेशन शुरू किया गया था। सूत्रों ने बताया कि कोलकाता एयरपोर्ट से विदेश भागने से पहले उसने उत्तर प्रदेश के बरेली से रवि अंतिल के नाम से फर्जी पासपोर्ट बनवाया था। अधिकारियों ने उसे मैक्सिकन समुद्र तटीय शहर कैंकम में खोजा था।

बिहार न्यूज़ डेस्क  नगर भवन में  चलंत लोक अदालत लगाया गया था. इसमें जमीन विवाद से संबंधित सबसे अधिक पचास मामले आये थे. वहीं अग्निकांड से संबंधित सात व दो मापी से जुड़े दो मामले आये. कुल मिलाकर 179 मामलों का निष्पादन किया गया. यह चलंत लोक अदालत बिहार राज्य विधिक प्राधिकारण के निर्देशानुसार चलाया गया.अवर न्यायाधीश सह सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकार के सचिव देवेश कुमार ने कहा चलंत लोक अदालत की शुरुआत के दौरान कहा है कि यह प्रयास किया जा रहा है कि जो भी छोटे-मोटे वाद है, उसे आसानी से सुलझाया जा सकता है. उसका निराकरण कर दिया जाए. विवाद में फंसे लोगों का समय व धन दोनों की बचत होगी. इस चलंत लोक अदालत में न्यायिक पदाधिकारी तौर पर सेवानिवृत न्यायाधीश बलराम सिंह, सामाजिक कार्यकर्ता रूकशाना बेगम व प्रभाकर मिश्रा थे. मिली जानकारी के अनुसार अग्निकांड से संबंधित मामले में शांति नगर नई बस्ती निवासी शोभा देवी, सदर प्रखंड के पड़री गांव निवासी मालती देवी, बेलाउर गांव निवासी मुटन साह, ललन साह, पुरुषोत्तम साह, कृष्णानगर कॉलोनी निवासी अरविंद साह व पुलिया गांव निवासी गोरख राम का मामला चलंत लोक अदालत में आया. पीड़ितों को कहना था कि अग्निकांड के बाद राजस्व कर्मी पूरी रिपोर्ट लेकर ले गये थे. लेकिन, अभी तक इसका मुआवजा नहीं मिला है.चलंत लोक के न्यायिक पदाधिकारियों ने दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद सदर सीओ प्रशांत शांडिल्य को निर्देश दिया कि तत्काल मुआवजा की राशि प्रदान की जाए. वहीं सारिमपुर से मापी वाद मामला सामने आया. सारिमपुर निवासी तारा देवी ने अपनी भूमि पैमाइश का आवेदन दिया था. परंतु अभी तक पैमाइश नहीं हो पायी थी. इसका भी निपटारा हुआ. सदर प्रखंड के ईस्माइलपुर के कविता देवी का अपील वाद की निपटारा हुआ. इस मौके पर पीएलवी मनोज कुमार श्रीवास्तव, प्रमोद कुमार, अविनाश कुमार संजीव कुमार, दीपेश कुमार थे.

दरभंगा न्यूज़ डेस्क

Share this story