Samachar Nama
×

Chapra  कफन के कर्ज में डूबे हितग्राही: मरने के बाद अब परिवार को कबीर के अंतिम संस्कार का पैसा तुरंत मिलेगा
 

Chapra  कफन के कर्ज में डूबे हितग्राही: मरने के बाद अब परिवार को कबीर के अंतिम संस्कार का पैसा तुरंत मिलेगा

बिहार न्यूज़ डेस्क, कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत मिलने वाली राशि में देरी के कारण कई लोगों को मरने के बाद कफन पाने के लिए संघर्ष करना पड़ा। किसी बेटे ने मां के अंतिम संस्कार के लिए पत्नी की पायल तक बेच दी तो किसी ने बच्चों की पढ़ाई रुकवा दी। लोगों की परेशानी को देखते हुए अब समाज कल्याण विभाग कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत पैसा देने के नियमों में बदलाव कर रहा है. मृत्यु के बाद यदि उनके परिजन आवेदन प्रक्रिया पूरी कर लेते हैं तो उन्हें दो से पांच घंटे में तीन हजार रुपये योजना के तहत दिए जाएंगे।

इसके साथ ही प्रतिदिन आवेदकों के फार्म का सत्यापन किया जाएगा। इसके लिए 10 से 30 आवेदकों के लिए 30 से 90 हजार रुपये तक की अग्रिम राशि संबंधित अधिकारियों के खातों में जमा कराई जाएगी। पहले महीने में तीन दिन फॉर्म वेरिफिकेशन होता था। उसके बाद आवेदकों को पैसा दिया गया। अधिकांश समय कबीर अंत्येष्टि के तहत जिम्मेदार अधिकारियों के पास पैसा नहीं होने के कारण लोगों को पांच से 14 महीने बाद पैसा मिल जाता था।

इसके चलते कई लोगों को कर्ज लेकर अपने रिश्तेदारों का अंतिम संस्कार करना पड़ा। कबीर अंत्येष्टि के तहत चार साल में करीब 75 हजार लोगों को योजना का लाभ दिया जा चुका है। इसके तहत हितग्राही को 22.50 करोड़ रुपये दिए गए हैं।

समिति के आधार पर होगी स्वीकृति, प्रतिदिन फार्म की होगी जांच
कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत पहले कार्यपालक अधिकारी ही आवेदकों को पैसा देते थे। इस वजह से इसमें काफी समय लग जाता था। हर महीने की 10, 20 और 30 तारीख को भी फार्मों की जांच की जाती थी। अब नए नियमों के अनुसार आवेदकों के फार्मों का प्रतिदिन सत्यापन किया जाएगा। साथ ही समिति द्वारा पैसा जारी किया जाएगा। कबीर अंतिम संस्कार के तहत अब अधिकारियों के खातों में 30 से 90 हजार रुपये एडवांस जमा किए जाएंगे। इस दौरान 30 लोगों के भुगतान के लिए नगर निगम को 90 हजार रुपये, 20 लोगों के लिए परिषद को 60 हजार रुपये दिए जाएंगे।
छपरा न्यूज़ डेस्क !!!
 

Share this story