Samachar Nama
×

Allahabad अब गांवों में भी बनेंगे कूड़ा निस्तारण प्लांट

Nashik  पृथक्करण के नाम पर कूड़ा डिपो साल भर जलते रहते हैं

उत्तरप्रदेश न्यूज़ डेस्क  स्वच्छता को लेकर अब हर गांव आत्मनिर्भर बनेगा. प्रत्येक ग्राम पंचायत में लिक्विड और सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए अलग-अलग प्लांट लगेगा. साथ ही अपशिष्ट को शोधित कर उसका इस्तेमाल किया जाएगा. इसके लिए पहले चरण में जिले के हर ब्लॉक से दो-दो ग्राम पंचायतों का चयन किया जाएगा. दूसरे चरण में जिले के एक हजार राजस्व गांवों में इसे लागू किया जाएगा और अंतिम चरण में जिले की 1540 ग्राम सभाओं को आत्म निर्भर किया जाएगा.

कूड़ा निस्तारण के मामले में अभी प्रत्येक ग्राम सभा स्तर पर काम नहीं होता है. ऐसे में गंदगी की समस्या बनी रहती है. इस दिशा में निर्भर गांव योजना को शुरू किया गया है. प्रदेश सरकार की ओर से निर्देश आने के बाद इस दिशा में काम शुरू कर दिया गया है. पहले चरण में जिले के प्रत्येक ब्लॉक से दो-दो ग्राम पंचायतों को लिया जाएगा. इसका नोडल पंचायती राज विभाग को बनाया गया है. जिला पंचायती राज अधिकारी की निगरानी में चयनित गांवों में गैस प्लांट लगाया जाएगा. जिसमें लिक्विड अपशिष्ट के निस्तारण के लिए गैस प्लांट लगाया जाएगा. इसे परिष्कृत कर ग्रामीण क्षेत्र में ही इसका उपयोग किया जाएगा. साथ ही सोक पिट टैंक लगाने का काम, ठोस अपशिष्ट निस्तारण के लिए व्यवस्था की जाएगी. डीपीआरओ डॉ. गोविंद श्रीवास्तव ने बताया कि इस दिशा में काम शुरू कराया जा रहा है. हम जल्द ही प्रत्येक ग्राम सभा में इसके लिए प्रबंध कर लेंगे.

हर क्षेत्र में किया जाएगा काम

जिन गांवों को आत्म निर्भर बनाया जा रहा है, उन्हें आदर्श गांव भी बनाया जाएगा. इसके लिए मंडलायुक्त विजय विश्वास पंत ने अफसरों को निर्देश दिया है. इन गांवों में स्कूल भवनों का विकास, स्मार्ट क्लास रूम, आंगनबाड़ी केंद्रों को बनाने के साथ ही सभी जगह कुछ भवनों को वाईफाई से भी जोड़ा जाएगा

 

 

इलाहाबाद न्यूज़ डेस्क

Share this story

Tags