Samachar Nama
×

PPF के ज़रिये अआप भी सरल तरीके से बन सकते है करोड़पति, बस अपनानी होगी ये ट्रिक 

,,

बिज़नेस न्यूज़ डेस्क - पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ) भारत में एक दीर्घकालिक बचत योजना है। फिलहाल निवेशकों को पीपीएफ पर 1 अप्रैल 2023 से 7.1 फीसदी ब्याज दर का लाभ मिल रहा है. निवेशक किसी भी बैंक या पोस्ट ऑफिस में पीपीएफ खाते में निवेश कर सकते हैं. हालांकि, किसी भी निवेशक को पीपीएफ खाते में एक साल में न्यूनतम 500 रुपये का निवेश करना होता है और ऐसा न होने पर पीपीएफ खाता निष्क्रिय हो सकता है। यह भी जान लें कि आप पीपीएफ खाते में एक साल में 1.5 लाख रुपये से ज्यादा निवेश नहीं कर सकते हैं। पीपीएफ अकाउंट को मैच्योर होने में 15 साल का समय लगता है।

पीपीएफ खाता आपको कैसे करोड़पति बना सकता है?
यदि आप पारंपरिक निवेश विकल्प चुनते हैं, तो आपको करोड़ों रुपये का कोष बनाने में बहुत समय लगेगा, लेकिन व्यक्तिगत वित्त विशेषज्ञों का कहना है कि पीपीपी निवेश में चक्रवृद्धि की शक्ति से यह कार्य आसानी से किया जा सकता है। कोई भी व्यक्ति पीपीएफ खाते को 5 साल के लिए बढ़ा सकता है और यह कितनी भी बार किया जा सकता है। जब भी आप अपने पीपीएफ खाते का विस्तार करें तो आपको इसे निवेश विकल्प के साथ आगे बढ़ाना चाहिए ताकि आपको इस पर दोगुना लाभ मिल सके। जैसे पीपीएफ की मैच्योरिटी रकम और नए निवेश दोनों पर ब्याज मिलेगा। इसके जरिए आपको अपने निवेश पर अधिकतम लाभ मिलेगा जिससे आपका रिटर्न कई गुना बढ़ सकता है। सरल शब्दों में, कोई भी व्यक्ति समय-समय पर पीपीएफ खाते में निवेश शुरू कर सकता है और अपनी सेवानिवृत्ति के समय तक 1 करोड़ रुपये या उससे अधिक प्राप्त कर सकता है।

पीपीएफ कैलकुलेटर
यदि कोई निवेशक 15 साल की परिपक्वता के बाद पीपीएफ खाते को 5-5 साल के लिए दो बार बढ़ाता है, तो वह अच्छी रकम कमा सकता है और 25 साल में करोड़पति बन सकता है। आइए जानते हैं कि ऐसा कैसे हो सकता है - अगर कोई पीपीएफ निवेशक अपने पीपीएफ खाते में एक साल में 1.5 लाख रुपये जमा करता है - तो इसे मासिक किस्तों जैसे हर महीने 8333.3 रुपये के रूप में भी जमा किया जा सकता है। अब इस हिसाब से आपके 25 साल के पीपीएफ निवेश की मैच्योरिटी राशि होगी- 1,03,08,015 या 1.03 करोड़ रुपये। यहां यह ध्यान रखना जरूरी है कि आपने कुल निवेश 37,50,000 रुपये किया था और 7.10 फीसदी वार्षिक ब्याज दर (मौजूदा ब्याज दर) के मुताबिक आपको कुल 65,58,015 रुपये का ब्याज मिला।

पीपीएफ कराधान नियम
पीपीएफ कराधान के नियम आपको ईईई कर लाभ देते हैं जिसमें न केवल आपको पीपीएफ में निवेश की गई 1.5 लाख रुपये की वार्षिक राशि पर कर छूट मिलती है, बल्कि वार्षिक निवेश के अलावा पीपीएफ की परिपक्वता राशि भी कर मुक्त होती है। इस तरह आपको ट्रिपल ईईई टैक्स लाभ मिलता है जिसे छूट-छूट-छूटका लाभ कहा जाता है।

Share this story

Tags