×

Travel: टूरिज़्म के लिए बच्चों के साथ किया जा रहा है सेक्स,विस्तार से जानें

Travel: टूरिज़्म के लिए बच्चों के साथ किया जा रहा है सेक्स,विस्तार से जानें

ये दुखद और शोषण की कहानी पर्यटकों की दुनिया से जुड़ी है। यह कहानी थाईलैंड के उन बच्चों की है जो गरीबी के कारण सेक्स टूरिज्म का शिकार हो चुके हैं। पटाया रिज़ॉर्ट क्षेत्र थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक से दो घंटे की दूरी पर है। यह एक ऐसा क्षेत्र है जो बड़ी संख्या में पर्यटकों को आकर्षित करता है। आमतौर पर पुलिस इलाके की निगरानी करती है। वहां की सड़कों पर हर उम्र के बच्चे छोटी-बड़ी चीजें करते नजर आ रहे हैं. कुछ भीख मांगकर अपना जीवनयापन करते हैं।Travel: टूरिज़्म के लिए बच्चों के साथ किया जा रहा है सेक्स,विस्तार से जानें

ये बच्चे आमतौर पर देहात में आते हैं जहां पैसा कमाना एक बड़ी समस्या है, ऐसे में कई बार ये बच्चे कमाए हुए पैसे लेकर घर चले जाते हैं. लेकिन इस पैसे को कमाने के लिए इन बच्चों को इस मासूम उम्र में लोगों की भूखी निगाहों का शिकार होना पड़ता है और मामला काफी आगे तक जाता है.

यौन शोषण
बाल संरक्षण संगठनों के मुताबिक हर साल थाईलैंड पहुंचने वाले 25 लाख से ज्यादा लोगों की यात्रा का मुख्य मकसद इन बच्चों के साथ शारीरिक संबंध बनाना है. तेजी से फैल रहे सेक्स टूरिज्म को रोकने के लिए दुनियाभर की पुलिस आपस में मिल कर काम कर रही है. लेकिन पुलिस की अत्याधुनिक तकनीक के बावजूद ‘सेक्स टूरिज्म’ में बच्चों का इस्तेमाल थमने का नाम नहीं ले रहा है.

इन बच्चों के शारीरिक शोषण के खिलाफ काम करने वाली एक गैर सरकारी संगठन ईसीपीएटी इंटरनेशनल की जूनिता उपाध्याय के मुताबिक, ”ये वे बच्चे हैं जो गरीब घरों से आते हैं। इनमें से कई अल्पसंख्यक हैं, कई बच्चे पहाड़ी इलाकों से विस्थापित हुए हैं और कई अन्य देशों में हैं।Thailand Sex Paradise - Best Service From Thai Girls? - XVIDEOS.COM

यौन उत्पीड़न के कारण उनमें से कई को एचआईवी और एड्स जैसी बीमारियां भी हो जाती हैं। जुनिता का कहना है कि उनके संगठन का उद्देश्य है कि किसी भी बच्चे का यौन शोषण न हो, लेकिन हकीकत यह है कि सेक्स टूरिज्म के जरिए यौन शोषण का शिकार हो रहे हैं.

विस्तार सीमा
दुनिया के सबसे बड़े चैरिटी संगठनों में से एक वर्ल्ड विजन का कहना है कि दुनिया भर में बच्चों के यौन शोषण का दायरा बढ़ता जा रहा है. शीना वैन एक ऐसी यौन उत्पीड़न की शिकार हैं, जिनका वियतनाम और कंबोडिया में 12 साल की उम्र में विदेशी पर्यटकों ने यौन शोषण किया था।

वह कहती हैं, ”बहुत से बड़े और बड़े लोगों ने मेरे साथ सेक्स किया. उन्हें नहीं लगता था कि मैं बच्ची हूं. यह मेरे लिए काफी शॉकिंग था.” शीना वैन को अपने संगठन की मदद से सोमाली मैम जैसी महिला ने सेक्स टूरिज्म से बाहर कर दिया था, जो खुद कंबोडिया में सेक्स टूरिज्म की शिकार रही हैं और अब प्रभावित बच्चों को बचाने और पुनर्वास के लिए काम करती हैं।

“तीन-चार साल के बच्चों को वेश्यालयों में बेच दिया जाता है। उन्हें एड्स हो जाता है, वे मर जाते हैं। इसलिए हमें इस समस्या को हल करने के लिए मिलकर काम करना चाहिए,” वह कहती हैं। थाईलैंड के अलावा रूस, मैक्सिको, अफ्रीका, रोमानिया, बुल्गारिया, यूक्रेन और चेक गणराज्य जैसे कई यूरोपीय देश ऐसे देश हैं जो तेजी से इसकी चपेट में आ रहे हैं।

ऐसा अनुमान है कि अकेले ब्राजील में लगभग 2.5 से 5 मिलियन बच्चे सेक्स टूरिज्म का हिस्सा हैं। कुछ दिनों पहले, ब्राजील की सरकार ने अपनी 200 से अधिक वेबसाइटों को अपनी साइटों से जानकारी हटाने का आदेश दिया, जो थाईलैंड को सेक्स पर्यटन का पसंदीदा गंतव्य बताते हैं।No Sex Please Were Thai | CLOUDY GIRL PICS

इनमें से ज्यादातर साइट अमेरिका से चलाई जाती हैं। सेक्स टूरिज्म में बच्चों के इस्तेमाल को लेकर अब दुनिया भर में जागरूकता फैलाई जा रही है। अब 42 देशों की करीब एक हजार कंपनियों ने पिछले साल सेक्स टूरिज्म में बच्चों के इस्तेमाल के खिलाफ एक प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए हैं कि वे इसे रोकने की दिशा में काम करेंगी.

Share this story