×

Kolkata में जलभराव, बारिश जारी रहने का अनुमान

Kolkata में जलभराव, बारिश जारी रहने का अनुमान

कोलकता में अभी भी गंभीर रूप से जलभराव है और लोग शहर की सड़कों पर घुटने और कमर तक पानी में आवाजाही कर रहे हैं। मौसम विभाग ने आगे और बारिश होने का अनुमान जताया है। पिछले 48 घंटों से लगातार हो रही बारिश से कोलकाता के कई हिस्से और दक्षिण बंगाल के अधिकांश जिले अभी भी जलमग्न हैं।

उच्च ज्वार और हुगली नदी में बढ़ते जल स्तर के कारण, कोलकाता पुलिस को शहर के कई सड़कों को बंद करना पड़ा।

हालांकि बुधवार की तुलना में गुरुवार को कम बारिश हुई थी, लेकिन यहां क्षेत्रीय मौसम विभाग ने रविवार तक अगले 48 घंटों में भारी से बहुत भारी बारिश की भविष्यवाणी की, जिससे पुलिस और प्रशासन को शहर के लोगों के लिए येलो अलर्ट जारी करना पड़ा।

हावड़ा, हुगली, पूर्व और पश्चिम मिदनापुर जैसे कई जिलों में बाढ़ आने का खतरा पैदा हो गया है

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, “गुरुवार को शहर में 48 मिमी बारिश हुई है, जिससे पिछले दो दिनों में बारिश की कुल मात्रा 217 मिमी हो गई है, जो वास्तव में शहर के लिए बहुत अधिक है।”

उन्होंने कहा, “अधिक महत्वपूर्ण बात यह है कि दक्षिण और उत्तर 24 परगना, पूर्वी और पश्चिम मिदनापुर, हुगली और हावड़ा जैसे जिलों सहित दक्षिण बंगाल के कई हिस्सों के साथ शहर में अगले कुछ दिनों में भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। कई हिस्सों में बाढ़ आने की संभावना है।”

मौसम विभाग ने कहा कि रविवार से स्थिति में सुधार होने की संभावना है।

स्थिति पर निगरानी रख रही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा, “मौसम पर हमारा कोई वश नहीं है। पश्चिम बंगाल एक बेसिन की तरह है और इसलिए ऊपरी क्षेत्र से पानी आता है और यहां बस जाता है लेकिन हमारे पास कोई विकल्प नहीं है।”

“पानी स्वाभाविक रूप से बाहर नहीं निकल सकता है और हमें पानी को बाहर निकालना होगा जिसमें समय लगता है।”

“दक्षिण और मध्य कोलकाता के निचले इलाकों के कई हिस्सों में पानी हैं। हमें बारिश रुकने तक इंतजार करना होगा।”

किसी भी तरह की दुर्घटना से बचने के लिए कोलकाता पुलिस ने कई सड़कों को बंद कर दिया है और यातायात को डायवर्ट कर दिया है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, “हम मैनहोल इसलिए खोल रहे हैं क्योंकि केवल पंपों से उन क्षेत्रों में मदद नहीं मिलेगी जहां पानी का घनत्व अधिक है। स्वाभाविक रूप से हम उन सड़कों पर यातायात की अनुमति नहीं दे सकते क्योंकि इससे दुर्घटनाएं हो सकती हैं।”

हालांकि पुलिस और केएमसी पानी को साफ करने के लिए अपने सभी प्रयास कर रहे हैं, दक्षिण कोलकाता के कई इलाके विशेष रूप से बेहाला, जादवपुर, थान्थानिया, एमहस्र्ट स्ट्रीट, लेक गार्डन, जोधपुर पार्क में घुटने भर पानी है।

घरों और दुकानों में पानी घुस गया है, जिससे लोग घरों से बाहर निकल कर ऊंचे इलाकों में शरण लेने को मजबूर हैं।

वाहनों की आवाजाही प्रतिबंधित है और इसलिए लोगों को पूरे रास्ते पैदल चलना पड़ता है।

–आईएएनएस

Share this story