×

बस्ती :आरआरटी टीम की संख्या बढ़ाई, सैंपलिग में तेजी लाने पर दिया जोर

बस्ती :आरआरटी टीम की संख्या बढ़ाई, सैंपलिग में तेजी लाने पर दिया जोर

मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने जिले में आरआरटी टीम की संख्या 38 से बढ़ाकर 65 कर दिया है। वह विकास भवन परिसर में समीक्षा बैठक कर रही थी। निर्देश दिया है कि सभी आरआरटी टीम के साथ दो पुलिसकर्मी भी क्षेत्र में जाएंगे। उनके साथ सफाई कर्मी भी होंगे, जो वहां कंटेनमेंट जोन तथा क्लस्टर में सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव करेंगे। उन्होंने सभी एमओआइसी को निर्देश दिया है कि सभी टीम को सक्रिय करें। यह टीम प्रिजमप्टिव मरीजों का सैंपलिग भी करेगी। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों को आवश्यक सुझाव देगी।जिलाधिकारी ने कहा कि लैब टेक्नीशियन की कमी को दूर करने के लिए डूडा द्वारा पंजीकृत सर्विस प्रोवाइडर से तत्काल लैब टेक्नीशियन लिए जाएंगे। इसके अलावा 30 गाड़ियों को भी किराए पर लिया जाएगा। इसके लिए उन्होंने अपर जिलाधिकारी वित्त अभय कुमार मिश्र को निर्देशित किया।उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया है कि पूरे जिले में प्रत्येक दिन लगभग 4000 लोगों का सैंपलिग किया जाए। लक्षणयुक्त लोगों को तत्काल मेडिसिन किट उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि मेडिसिन की पर्याप्त उपलब्धता है। उन्होंने हर्रैया बाजार में भी प्रत्येक परिवार में मेडिसिन किट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। मेडिसिन किट का वितरण निगरानी समिति द्वारा पहले दिन ही किया जाएगा ताकि प्रारंभिक स्तर पर ही बीमारी को बढ़ने से रोका जा सके।जिलाधिकारी ने चार मेडिकल मोबाइल यूनिट को भी सक्रिय करने का निर्देश दिया है। इनके द्वारा दीवानी न्यायालय तथा जेल में सैंपलिग का कार्य किया जाएगा। इसके बाद इसको जिले के अन्य भागों में भी भेजा जाएगा ताकि सैंपलिग कार्य में तेजी लाई जा सके। उन्होंने प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिया है कि प्रत्येक पॉजिटिव केस के अगल-बगल कम से कम 25 लोगों का सैंपलिग कराया जाए। प्रत्येक दिन सुबह 8.00 बजे तथा शाम को 8.00 बजे सभी पांच कोविड-19 डेडिकेटेड अस्पताल से रिक्त बेड की सूचना एकत्र कर उपलब्ध कराई जाए। कोविड कमांड एवं कंट्रोल सेंटर द्वारा एल-2 कैली ओपेक अस्पताल में मरीज भर्ती कराने के लिए बेहतर समन्वय स्थापित किया जाए तथा बेड की उपलब्धता के आधार पर मरीजों को भर्ती कराया जाए। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन द्वारा भी मरीजों से सीधे वार्ता करके फीडबैक लिया जा रहा है। इसलिए इस कार्य में कोई कोताही न बरतें।जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि सभी क्लस्टर एवं कंटेनमेंट जोन में नियमित रूप से सोडियम हाइपोक्लोराइट का छिड़काव कराया जाए। सीडीओ डा. राजेश कुमार प्रजापति, सीएमओ डा. अनूप कुमार, उप जिलाधिकारी सुखबीर सिंह, आनंद श्रीनेत, डा. सीके वर्मा, डा. फखरेयार हुसैन, डा. एके कुशवाहा, आलोक राय, जगदीश शुक्ला, रमन मिश्र, पूजा पाल, इंद्रपाल सिंह, सुधीर यादव, उमेश मौजूद रहे।

Share this story