×

कोरोना को हराने में एक जुट रहा परिवार, मिली कामयाबी

कोरोना को हराने में एक जुट रहा परिवार, मिली कामयाबी

कुंडा विकास खंड के महराजपुर गांव में सात सदस्यों के परिवार ने करोनो जंग में जीत हासिल की है। सबसे बड़ी बात यह है कि इस परिवार का एक ऐसा सदस्य कोरोना पाजिटिव था जो कोरोना योद्धा के नाम से कुंडा में जाना जाता है। योग, स्वच्छता व परिवार की नियमित दिनचर्या से पूरा परिवार इस महामारी को मात देकर बाजी मार गया। महाराजपुर निवासी संत बहादुर सिंह (62) के बेटे रोहित सिंह कुंडा सीएचसी में डाक्टर हैं। कुछ दिन पूर्व लोगों की सहायता करते-करते जब वह खुद कोरोना पाजिटिव हो गए तो परिवार के अन्य सदस्यों में भी लक्षण दिखने लगे। परिवार के अन्य सदस्यों की जांच कराई गई तो सभी की रिपोर्ट पाजिटिव आई। डॉ. रोहित परिवार समेत तत्काल आइसोलेट हो गए। इस दौरान उन्होंने काढ़ा, इम्युनिटी वर्धक आधार, एलोपैथिक दवाओं के साथ ही स्वच्छता का ध्यान दिया। डेढ़ वर्ष की बच्ची संघवी व सात वर्षीय बेटा ओजस का विशेष ध्यान देना पड़ा। डा. रोहित बताते हैं कि पाजिटिव होने पर हम लोगों ने बहुत ही सावधानी पूर्वक एक दूसरे से शारीरिक दूरी बनायी। धीरे-धीरे पूरे परिवार की रिपोर्ट निगेटिव आना शुरू हो गई। इसमें श्वेता (34) पत्नी डा. रोहित, प्रेम लता (60) पत्नी संत बहादुर, बेटा सुरेंद्र (39), समेत परिवार के सात सदस्यों की रिपोर्ट 10 से 17 दिन के अंदर निगेटिव आ गई।
कोरोना से जंग जीतने के बाद डा. रोहित सिंह हर कोरोना पाजिटिव मरीजों के लिए बताते हैं कि कोरोना काल में विटामिन सी का सेवन बहुत जरूरी है। इसके लिए नीबू, संतरा आदि का सेवन जरूर करना चाहिए।
डा. रोहित बताते हैं कि जब वह कोरोना पाजिटिव थे तो उनके पास लोगों का फोन बराबर आता था। ऐसे में वह फोन पर ही लोगों को कोरोना से बचाव का उपाय व उसकी दवा बताते रहे।

 

 

Share this story